जो आए उनका स्वागत है, जो न आए उनसे कोई शिकायत नहीं: नीतीश

0
496

पटना । मुख्यमंत्राी नीतीश कुमार ने राजधनी पटना के एसकेएम हॉल में आयोजित स्वतंत्राता सेनानी समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मेरे लिए गौरव की बात है कि स्वतंत्ता सेनानियों को सम्मान करने का बिहार को सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्होेंने कहा कि महामहिम राष्ट्रपति ने कार्यक्रम में आकर हमारा मान बढ़ाया है, मेैं उनका अभिनंदन करता हूं। उन्होंने कहा कि हमने पूरे देश के सभी गणमान्य लोगों को आमंत्रित किया था, सभी लोग आए लेकिन जो लोग नहीं आए उनको भी मैं धन्यवाद देता हूं। यहां मंच पर सभी गणमान्य लोग उपस्थित हैं, खासकर जो स्वतंत्रता सेनानी यहां उपस्थित हैं, जो दूर से आए हैं मैं उन्हें नमन करता हूं। नीतीश कुमार ने कहा कि आज जो देश की स्थिति बन गई है उसमें गांधी के आदर्शों को अपनाने की, गांधी के विचारों को आत्मसात करने की सबसे ज्यादा जरूरत है। हमें गर्व महसूस करना चाहिए कि गांधी का बिहार से इस कदर जुड़ाव था कि चंपारण की धरती से ही उन्होेंने अपने सत्याग्रह की शुरूआत की। आज गांधी ने देश को आजादी ना दिलाई होती तो इतने बड़े लोकतंत्रा की स्थापना कैसे होती? उन्होेंने गृहमंत्राी राजनाथ सिंह के समारोह में नहीं आने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि इस पर कम-से-कम राजनीति नहीं की जानी चाहिए। यह तो उन लोगों को सम्मान करने का समारोह है जिन्होंने देश की आजादी में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। नीतीश ने मीडिया पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि मैंने कहा कि ज्यादा बोलने से गला सूखने लगता है वो मैंने मीडिया वालों के लिए नहीं अपने लिए कहा था। उन्होेंने कहा कि इस कार्यक्रम को जन-जन तक पहुंचाएं। सीएम ने दो टूक में कहा कि गांध्ीजी के चंपारण सत्याग्रह के सौंवे साल पर सभी समारोह का आयोजन राज्य की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here