जेल से निखिल के एफ आई आर पर रूपसपुर थानेदार सस्पेंड

0
599
दानापुर (SPK Correspondent) . पूर्व मंत्री की बेटी के यौनशोषण का आरोपी निखिल प्रियदर्शी फरारी के दौरान रूपसपुर थानेदार विनोद कुमार से बात करता था। निखिल की गिरफ्तारी के बाद जब उसके मोबाइल की सीडीआर निकाली गई तो यह खुलासा हुआ। गिरफ्तारी से पहले निखिल के कई अन्य बड़े लोगों से भी बात करने की बात सामने आई थी। निखिल दूसरे के नाम पर लिए गए सिम से बात करता था।
इधर, विनोद ने बेउर जेल में बंद निखिल की शिकायत पर रूपसपुर थाने में हेलियस ग्रुप के संजय कुमार सिंह और मानस कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया। चौंकाने वाली बात यह है कि एफआईआर करने से पहले विनोद ने वरीय अधिकारियों को इसकी जानकारी तक नहीं दी। एसएसपी को जब इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने थानेदार को लाइन हाजिर कर दिया। साथ ही सिटी एसपी वेस्ट रवींद्र कुमार को इसकी जांच करने का आदेश दिया।निखिल इन दिनों बेउर जेल में बंद है।
बताते चलें कि यौनशोषण के मामले में जेल में बंद ऑटोमोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी ने हेलियस कंपनी के चेयरमैन संजय कुमार सिंह एवं मानस राज के खिलाफ रूपसपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी है। जेल से भेजे पत्र संख्या 3269 दिनांक 29 अप्रैल 2017 के द्वारा निखिल ने दोनों पर धोखाधड़ी कर जमीन बेचने और 2 करोड़ 75 लाख रुपए हड़पने का आरोप लगाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here