UP चुनाव में हार के बाद मायावती ने मुसलमानों को गद्दार कहा: नसीमुद्दीन सिद्दीकी

0
107
लखनऊ( SPK News Desk):     BSP से निकाले गए नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने पार्टी सुप्रीमो मायावती को लेकर बड़े खुलासे किए. उन्होंने कहा कि मायावती ने मुझ पर झूठे आरोप लगाकर उन्हें पार्टी से बाहर किया गया है. साथ ही उन्होंने मुसलमानों के खिलाफ अपशब्द कहे और उन्होंने बातचीत का ऑडियो भी जारी किया.
ऑडियो टेप जारी किया
नसीमुद्दीन ने मायावती से बातचीत का ऑडियो भी जारी किया. साथ ही यह भी दावा कि उनके पास करीब 150 टेप हैं. नसीमुद्दीन ने कहा कि मायावती ने मुझसे 50 करोड़ मांगे तो मैंने उनसे कहा कि इतना पैसा कहां से लाऊंगा तो उन्होंने कहा कि अपनी प्रॉपर्टी बेचकर 50 करोड़ दो. मैंने कहा कि आपको कैश चाहिए इतना पैसा नोटबंदी के बाद कैश में नहीं मिलेगा. नसीमुद्दीन ने दावा किया कि मैंने रिश्तेदारों, पार्टी के कुछ लोगों से मदद मांगी और कहा कि मेरी प्रॉपर्टी बेचवा दो.
मायावती ने गालियां भी दीं
नसीमुद्दीन ने कहा कि मायावती ने चुनाव नतीजों के बाद मुझे दिल्ली बुलाया, उन्होंने पूछा- मुसलमानों ने बीएसपी को वोट क्यों नहीं दिया. जब मैंने कहा कि नहीं बहनजी मुसलमानों ने हमको वोट दिया है लेकिन वे लोग एसपी-कांग्रेस गठबंधन से कन्फ्यूज हुए और इसी वजह से बीएसपी का वोट बंट गया तो उन्होंने मुझे गालियां दी और कहा कि मैं उन्हें मूर्ख बना रहा हूं.
मुसलमानों को कहा अपशब्द
सिद्दीकी ने दावा किया कि उनके सामने मायावती ने मुझसे कहा कि मुसलमान गद्दार हैं. उन्होंने दाढ़ी वाले मुसलामानों को कुत्ता तक कह डाला. सिद्दीकी ने आगे कहा कि जब मैंने विरोध जताया तो उन्होंने आवाज नीची कर ली. बैलेंस करने के लिए बोलीं तो कहने लगीं क‌ि बैकवर्ड और अपरकास्ट ने भी हमें धोखा दिया. मैंने कहा वोट देना तो उनकी मर्जी की बात है.
मायावती के पास अपराधियों का गिरोह
सिद्दीकी ने दावा किया कि मायावती ने किसी को जान से मरवाने की साजिश रची थी. 32 साल से एक-एक बात जानता हूं. राज खोल दिया तो दुनिया में भूचाल आ जाएगा. बीएसपी में सबकी जन्म-कुंडली जानता हूं. मायावती के पास अपराधियों का गिरोह है और इस गिरोह के जरिए मुझे वो मरवा सकती हैं. नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि सतीश मिश्रा ने मायावती को चंगुल में फंसाकर रखा है. सतीश मिश्रा मायावती को जेल जाने का डर दिखाते रहते हैं.
BSP ने नसीमुद्दीन को पार्टी से निकाला 
बता दें कि बीएसपी के जाने-माने चेहरे नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को बुधवार को पार्टी से बाहर कर दिया है. इन दोनों पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है. इस बात की जानकारी बीएसपी के वरिष्ठ नेता सतीश मिश्रा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दी.
उन्होंने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दकी और उनके बेटे अफजल पार्टी की छवि खराब कर रहे थे. नसीमुद्दीन ने लोगों से बीएसपी की सरकार के नाम पर पैसे लिए हैं. सिद्दीकी ने पश्चिमी यूपी में बेनामी संपत्ति बनाई और अवैध बूचड़खाने भी चला रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here