CM नीतीश ने बैंकों को लगाई फटकार, कहा-स्टूडेंट्स लोन देने में परेशान मत कीजिए

0
574

पटना के होटल चाणक्य में 60वीं बैंकर्स कमिटी की बैठक में बोलते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार के छात्रों को लोन देने में बैंक आनाकानी करते हैं। बैठक में मुख्यमंत्री ने बैंक अफसराें काे जमकर फटकार लगाई। नीतीश ने कहा कि अकारण तकनीकी वजह बताकर स्टूडेंट्स को लोन देने में बैंक आनाकानी करते हैं जो ठीक नहीं है। सीएम ने कहा कि बैंकर्स केवल नौकरी करेंगे ताे काम नहीं चलेगा, उन्होंने कहा कि कम से कम छात्राें काे लोन देने में उन्हें लगातर मत्था टेकने बैंक मत बुलाइए, उन्हें टहलाना बंद कीजिए। नीतीश ने कहा कि पता चला है कि स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड को लेकर छात्र परेशान हो रहे हैं और बैंकों के लगातार चक्कर लगा रहे हैं और उनका काम नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में बैंक के ब्रांच ज्यादा नहीं खुल रहे हैं। पिछले साल का भी टारगेट भी पूरा नहीं हुआ। प्रत्येक ग्राम पंचायत में बैंक शाखा खुलना चाहिए। सीएम नीतीश ने कहा कि 2016-17 में 183 बैंक शाखाएं खुली जबकि बिहार में 1,640 शाखाएं खोलने का लक्ष्य था बिहार में 17 हजार पर एक बैंक होना चाहिए। बैंको को समय पर अनुपालन करने की जरूरत है। सरकार की योजना का लाभ देने में बैंक माध्यम होते हैं। बैंकों को निचले स्तर पर सुधारने की जरूरत है। सरकार की योजना में बैंकों की भूमिका अहम है। इसके साथ ही डिजिटल लेनदेन के लिए संसाधन को बेहतर बनाने की जरूरत है।
बैंकों की राशि को सुरक्षित करने के लिए सरकार गंभीर
सीएम ने कहा कि बैंक की राशि को अपराधी द्वारा लूट को गंभीरता से लेते ही सरकार। दो बटालियन का गठन हो गया है जिससे बैंको के करेन्सी कहीं भी ले जाने की मॉनिटरिंग की जायेगी। देश की आर्थिक प्रगति में बैंक की अहम भूमिका है। बिहार के लोग भले हैं, अगर किसी कारणवश वो पैसा देने में असमर्थ है या पचा लेते हैं तो हमारी सरकार बैंक की हर संभव मदद करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here