कैसे काम करती हैं EVM और VVPAT मशीनें, EC देगा डेमो

0
196

नई दिल्ली
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन यानी EVM के साथ छेड़छाड़ हो सकती है या नहीं, इसे लेकर देशभर में चर्चा छिड़ी हुई है। पिछले दिनों दिल्ली विधानसभा में EVM शो कर AAP ने छेड़छाड़ का डेमो तक दिखा डाला था। इसी बीच चुनाव आयोग ने कहा है कि शनिवार को वह ‘EVM चैलेंज’ के लिए तारीखों का ऐलान करेगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस के इतर पोल पैनल यह भी दिखाएगा कि EVM और VVPAT(वोटर-वेरिफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें कैसे काम करती हैं। ऐसा कर आयोग यह बताएगा करेगा कि EVM में गड़बड़ी संभव नहीं है। हाल में हुए 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद आम आदमी पार्टी और कांग्रेस जैसे विपक्षी दलों ने EVM में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। AAP ने दिल्ली विधानसभा में एक डेमो देकर बताया था कि कैसे एक स्पेशल कोड के जरिए EVM से छेड़छाड़ की जा सकती है। चुनाव आयोग ने इन आरोपों को गलत बताते हुए सभी राजनैतिक दलों को ‘खुली चुनौती’ देने का फैसला किया है। ऐसा करने के पीछे आयोग का मकसद यह बताना है कि EVM से छेड़छाड़ संभव नहीं। चुनाव आयोग ने यह भी कहा है कि आने वाले चुनावों में EVM की जगह VVPAT मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा ताकि वोटर एक पेपर स्लिप के जरिए यह सुनिश्चित कर सकें कि उनका वोट उसी को गया है, जिसे उन्होंने डाला है। चुनाव आयोग ने यह घोषणा सभी पार्टियों के साथ दिनभर की बैठक के बाद लिया। इस बैठक में कई पार्टियों ने वापस पेपर बैलट पर लौटने का सुझाव भी दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here