8 साल बाद चुनाव आयोग फिर दिया ईवीएम का Demo

0
551

नई दिल्ली: आठ साल बाद एक बार फिर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन को लेकर उपजे विवाद के चलते आखिरकार चुनाव आयोग डेमो दे रहा है। दिल्ली के विज्ञान भवन में ईवीएम-वीवीपीएटी पर ये दो घंटे तक ईवीएम से संबधित जानकारी दी गई। चुनाव आयोग ने ये भी कहा कि ईवीएम मशीने हैकिंग से सुरक्षित हैं। इस कार्यक्रम में राजनीतिक दलों को आमंत्रित नहीं किया गया है। केवल मीडिया के समक्ष इस डेमो को पेश किया गया है।
राजनीतिक दलों ने की थी ईवीएम मशीनों में छेड़छाड़ होने की आशंका
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को मिली अप्रत्याशित जीत के बाद कई राजनीतिक दलों ने ईवीएम मशीनों में छेड़छाड़ होने की आशंका जाहिर की थी और दावा किया था कि इनका दुरुपयोग हो सकता है। गत दिनों आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली विधानसभा में ईवीएम का एक नमूना पेश कर उसमें छेड़छाड़ संभव होने का लाइव डेमो किया था। इसका देशभर में सीधा प्रसारण किया गया था। इसके बाद आयोग ने सभी राजनीतिक दलों की इस बारे में एक बैठक भी बुलाई थी और कहा था कि ईवीएम में छेड़छाड़ संभव नहीं है।
डेमो के दौरान मशीन के साथ वीवीपैट भी लगाया जाएगा
आज विज्ञान भवन में ईवीएम के डेमो के दौरान इस मशीन के साथ वीवीपैट भी लगाया जाएगा और मीडिया को यह बताया जाएगा कि मतदान करने के बाद मतदान की सही पर्ची निकलती है जिसे देखते हुए यह नहीं कहा जा सकता है कि ईवीएम से गलत मतदान संभव है। वैसे चुनाव आयेाग ने चुनाव प्रणाली पर लोगों का भरोसा बनाए रखने के लिए भविष्य में सभी चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीनें लगाए जाने की बात कही है। चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को खुली चुनौती दे रखी है कि वह ईवीएम में गड़बड़ी करके दिखाएं। आम आदमी पार्टी ने कहा है कि वह इस चुनौती को स्वीकार करती है और ऐसा करके दिखा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here