शत्रुघ्न सिन्हा का ट्वीट-मेरी हैसियत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से पूछ लो

0
588

बिहार के पटना साहिब से बीजेपी के सांसद और जब-तब अपने बागी तेवरों के लिए चर्चित नेता सह अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने आज कई ट्वीट किए हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि अपनी ही पार्टी के नेताओं की प्रतिक्रिया से आहत हूं। प्रतिक्रिया पर उन्होंने हैरानी भी जाहिर की है।
उन्होंने लिखा है कि मैं हैरान हूं कि मेरे अपने ही वरिष्ठ पार्टी नेता, मेरे सहयोगी, मेरे अच्छे दोस्त जिन्होंने मुझे लेकर एेसी प्रतिक्रिया दी है। शत्रुघ्न सिन्हा ने लिखा है कि एक वरिष्ठ साथी जो लंबे समय से राजनीति में साथ रहे हैं, उनसे इस कदर उम्मीद नहीं की जा सकती है कि वे मर्यादा की सारी सीमाओं को तोड़ दें।
शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे लिखा है कि और मैं कोई बदनाम चेहरा नहीं हूं। राजनीति में बहुत सारे लोगों ने मेरे वसूल, सिद्धांत और मेरे धैर्य की तारीफ की है, और जो लोग मेरी आलोचना कर रहे हैं, उन पर ही लोगों ने पार्टी को खत्म करने और बदनाम करने के लिए सवाल खड़े किये थे। लोगों ने ऐसे शख्स पर ही उंगली उठाई थी।
शत्रु ने आगे ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुझे आज पार्टी से निकालने की बात की जा रही है, मैं पूछता हूं किस हैसियत से मुझे पार्टी से निकालने की बात कही जा रही है। शत्रु ने भोला बाबू के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया है कि भोला बाबू ने सही सवाल उठाया है कि आखिर किस हैसियत से शत्रुघ्न सिन्हा को पार्टी से निकाले जाने की बात की जा रही है।
उनसे पूछिए कि पार्टी से मुझे क्यों निकाल बाहर किया जाए? मेरी पार्टी में क्या हैसित है? ये भी लोगों से पूछना चाहिए। बिना वजह के एेसा कहना गलत है। एेेसे लोगों को पहले खुद के भीतर झांककर देखना चाहिए।
पर्सनालिटी और परफॉर्मेंस ये सब बातें कि कब क्या बोलना जरूरी है? क्या कहां बोलना जरूरी है? ये बातें लोगों को सीखना जरूरी है। ये बातें उन्हें जाकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से जरूर सीखना चाहिए।
शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि मेैं अपनी तरफ से उनके लिए हमेशा ही भला चाहता हूं और उनके उज्जवल भविष्य की हमेशा कामना करता हूं। जय बिहार! जय हिंद !
दरअसल शत्रुघ्न सिन्हा करप्शन के आरोपों में घिरे लालू प्रसाद यादव और दिल्ली के सीएम केजरीवाल का बचाव करते नजर आए थे। शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा कि नेताओं पर आरोप लगाने वालों को इसका सबूत भी देना चाहिए। वहीं शत्रु के ये तेवर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी को नहीं भाए। उन्होंने ट्विटर ही शत्रु के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए ‘गद्दारों’ को बाहर करने की मांग कर डाली थी, जिसके बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने आहत होकर एेसी बातें कहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here