लियोनल मेसी को सुनाई गई सजा पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मुहर

0
551

टैक्स धोखाधड़ी के मामले में बार्सिलोना के स्ट्राइकर लियोनल मेसी को सुप्रीम कोर्ट से भी राहत नहीं मिली। न्यूज एजेंसी एएफपी ने न्यायिक सूत्रों के हवाले से बताया कि स्पेन की सुप्रीम कोर्ट ने मेसी और उनके पिता को सुनाई गई सजा पर मुहर लगा दी है। वहां की एक अदालत ने जुलाई 2016 में दोनों को 21 महीने की जेल की सजा सुनाई थी और साथ ही उन पर 37 लाख यूरो (लगभग 41 लाख डॉलर) जुर्माना लगाया है। लेकिन यह सजा निलंबित हो सकती है क्योंकि स्पेन में पहले गैर हिंसक अपराधों में दो साल से कम की सजा होने पर माफ हो जाती है ।
अर्जेंटीना और बार्सिलोना के स्टार और उनके पिता जार्ज होरेसियो मेसी को 41 लाख 60 हजार यूरो के टैक्स से बचने के लिए बेलिज और यूरुग्वे में कंपनियों का उपयोग करने का दोषी पाया गया था। मेसी ने यह कमाई 2007 से 2009 के बीच अपनी छवि का उपयोग करने के अधिकारों से की थी। मेसी के छवि के अधिकारों से संबंधित कमाई में डैनोन, एडिडास, पेप्सी कोला, प्रॉक्टर ऐंड गैंबल या कुवैत फूड कंपनी जैसी कंपनियों से जुड़े करार शामिल हैं। पांच बार के फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गए 29 वर्षीय मेसी पर 20 लाख 90 हजार यूरो जबकि उनके पिता पर 16 लाख यूरो का जुर्माना लगाया गया। इसके बाद उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती दी। मेसी और बचपन से अपने बेटे के वित्तीय प्रबंधन को संभालने वाले उनके पिता पर टैक्स चोरी के तीन आरोप लगाए गए हैं। मेस्सी ने अदालत को बताया कि उन्होंने वित्तीय मामलों में अपने पिता पर पूरा भरोसा दिखाया और उन्हें कुछ भी पता नहीं कि उनकी कमाई का प्रबंधन कैसे किया जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here