चैंपियंस ट्रॉफी 2017: अगर ऐसा हुआ तो ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ देगी टीम इंडिया

0
51

नई दिल्ली: क्रिकेट का मिनी वर्ल्ड कप इंग्लैंड में एक जून से शुरू हो रहा है. क्रिकेट की सभी दिग्गज टीमें इंग्लैंड में इकट्ठी हो चुकी हैं और अपनी-अपनी तैयारियों में लगी हैं. ऐसे में चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया को मजबूत दावेदार के तौर पर देखा जा रहा है, क्योंकि टीम इंडिया ने दो बार इस खिताब को अपने नाम किया है. टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया ने अब तक दो बार चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया है. इसलिए अगर टीम इंडिया इस बार चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम करती है तो वह इस टूर्नामेंट में कंगारुओं को पीछे छोड़ सकती है.
मौजूदा चैंपियन है टीम इंडिया:

टीम इंडिया ने साल 2013 में फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड को हराकर चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम किया था. टीम इंडिया मौजूदा चैंपियन भी है. इससे पहले टीम इंडिया ने साल 2002 में श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से इस खिताब को जीता था. वहीं, अगर बात ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो उसने पहले वर्ष 2006 और फिर वर्ष 2009 में ये खिताब जीता था. ऑस्ट्रेलिया ने वर्ष 2006 में वेस्टइंडीज को तो 2009 में न्यूजीलैंड को हराकर खिताब अपने नाम किया था. मतलब यह है कि इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया दोनों ने ही दो-दो बार विजेता घोषित हो चुकी है. इसलिए इस टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ने का टीम इंडिया के पास यह एक अच्छा मौका है.
कैसा रहा अबतक का फाइनल का सफर:

इस ट्रॉफी को पहले आईसीसी नॉक आउट टूर्नामेंट के नाम से खेला जाता था, जिसकी शुरुआत वर्ष 1998 में हुई थी. यह हर दो वर्ष के अंतराल पर खेला जाता था. इसके बाद वर्ष 2002 में इसका नाम बदलकर चैंपियंस ट्रॉफी रख दिया गया. शुरुआत में यह भी दो वर्ष के अंतराल पर ही खेला जाता था, लेकिन बाद में इसकी समय सीमा बढ़ाकर चार वर्ष कर दी गई. चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत ने तीन बार जगह बनाई और दो बार खिताब जीता, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने दो बार इसके फाइनल में जगह बनाई और दोनों ही बार खिताब अपने नाम किया. इससे यह तो साफ है कि इस बार भी इन दोनों टीमों की निगाहें ट्रॉफी पर होगी, लेकिन देखना यह होगा कि इस बार कौन सी टीम इस खिताब को अपने नाम करती है.
इस बार होगी कांटे की टक्कर:

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के लिए टीम इंडिया को ‘ग्रुप बी’ में श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के साथ रखा गया है, जबकि ‘ग्रुप ए’ में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और बांग्लादेश की टीम मौजूद है. इस बार जिस तरह का ग्रुप बनाया गया है उससे यह तो साफ है कि इस बार हर एक मुकाबला काफी मुश्किल होने वाला है.विराट कोहली पर होगी सबकी नजर:

टीम इंडिया ने अपना पहला खिताब सौरव गांगुली की कप्तानी में श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से जीता था, जबकि दूसरी बार धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने यह कमाल किया था. अब सबकी नजरें विराट कोहली की तरफ है कि क्या वह इस खिताब का बचाव कर पाएंगे.

चैंपियंस ट्रॉफी के पिछले विजेता:

1998: दक्षिण अफ्रीका
2000: न्यूजीलैंड
2002: भारत और श्रीलंका सामूहिक रूप से विजेता
2004: वेस्टइंडीज
2006: ऑस्ट्रेलिया
2009: ऑस्ट्रेलिया
2013: भारत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here