चेतन भगत ने ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ उपन्यास के लिए मांगी डुमरांव राज परिवार से माफी

0
300

नगर के बड़ा बाग स्थित राज परिवार के कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में राज परिवार के युवराज चन्द्रविजय सिंह ने चेतन भगत द्वारा लिखित उपन्यास हाफ गर्लफ्रेंड में राज परिवार को अपमानित किये गए मामले से जुड़ी बातों को मीडिया के सामने रखा. युवराज चंद्र विजय ने अपनी बातचीत में कहा कि डुमरांव के लिए आज का दिन हर्ष एवं मंगल का दिन है. चेतन भगत ने अपने उपन्यास के माध्यम से जिस प्रकार डुमरांव की प्रतिष्ठा धूमिल करने की कोशिश की थी वो कोशिश नाकाम रही. उन्होंने कहा कि इस मामले में समझौता करने के दौरान चेतन भगत अपने घृणित मंसूबे में असफल रहे, साथ ही हमने इस मुकदमे के माध्यम से यह स्पष्ट संदेश दिया कि केवल डुमरांव ही नहीं पूरे बिहार की प्रतिष्ठा एवं मान-सम्मान के विरुद्ध जो कोई भी गलत आचरण करेगा उसे किसी हाल में बरदाश्त नहीं किया जायेगा.
‘हाफ गर्लफ्रेंड’ विवाद : विदित हो कि वर्ष 2014 में उपन्यासकार चेतन भगत ने ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ नामक उपन्यास लिखा था, जिसमे राज परिवार का जिक्र घोर अमर्यादित ढंग से किया गया था. यही नहीं, इस उपन्यास में राज परिवार के सदस्यों को शराबी, जुआरी एवं कंगाल के रूप में भी दर्शाया गया था. साथ ही साथ उपन्यास में जिक्र का मुख्य बिंदु यह भी था कि बिहार के लड़कों को अंग्रेजी नहीं आती. जिसको लेकर डुमरांव के लोगो ने पुरजोर विरोध करते हुए वर्ष 2014 चेतन भगत का पुतला फूंका एवं उपन्यास को भी जलाया था. मामले से नाराज प्रबुद्ध लोगों ने भी राज परिवार से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी.
दिल्ली में हुआ था चेतन के खिलाफ मुकदमा : लोगों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए राज परिवार ने चेतन भगत एवं प्रकाशक के खिलाफ दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में मुकदमा दायर कराया, जिसके वकील अवनीश गर्ग एवं गौरव घोष थे. दोनों वकीलों ने सफलता पूर्वक मुकदमे की पैरवी की और इस मुकदमे को समझौता जैसे निर्णायक मोड़ पर लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी. वहीं मुकदमा दायर करने के बाद चेतन ने अपने उपन्यास के हिंदी संस्करण में डुमरांव का नाम बदल कर सिमरांव कर दिया और अपने हालिया प्रदर्शित ‘फिल्म’ हाफ गर्लफ्रेंड में भी सिमरांव का ही जिक्र किया.आगे श्री सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि चेतन भगत ने इस गलती के लिए डुमरांव के लोगों से बिना शर्त माफी मांगी है. वहीं राज परिवार के महाराज कुमार शिवांग विजय सिंह, दिल्ली में केस के ही सिलसिले में प्रवास कर रहे हैं, इस मामले को लेकर उन्होंने फोन पर बातचीत करने दौरान खुशी जतायी और कहा कि यह समझौता रूपी जीत डुमरांव के लोगों की जीत है. जिन्होंने राज परिवार के प्रति अपना अपार प्रेम दर्शाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here