जम्मू-कश्मीरः सीजफायर उल्लंघन पर मुंहतोड़ जवाब, 5 पाकिस्तानी सैनिक ढेर

0
578


जम्मू-कश्मीर में LoC पर पाकिस्तानी सेना द्वारा किए गए सीजफायर के उल्लंघन का भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। सूत्रों के मुताबिक भीमबेर और बट्टल सेक्टर में की गई इस जवाबी कार्रवाई में जहां 5 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं, वहीं 6-7 पाक सैनिक घायल हुए हैं। उधर इस कार्रवाई से बौखलाए पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायुक्त जे.पी. सिंह को अपने विदेश मंत्रालय में तलब किया है। बता दें कि राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा पर स्थित अग्रिम चौकियों पर पाकिस्तान ने गुरुवार को मोर्टार से गोले दागे और गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसमें जनरल इंजिनियरिंग रिजर्व फोर्स (JREF) का एक श्रमिक मारा गया, जबकि दो अन्य लोग घायल हुए थे। घायलों में बीएसएफ का एक जवान भी शामिल है। इसके बाद भारत की सेना ने माकूल जवाब दिया। सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने बताया, ‘पाकिस्तानी सेना ने सुबह साढ़े सात बजे राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर स्थित अग्रिम चौकियों पर मोर्टार दागे और गोलीबारी की।’ उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर कृष्णाघाटी सेक्टर में भी गोलीबारी की। नियंत्रण रेखा पर बालनोई और मानकोट सेक्टरों में भी गोलीबारी की खबरें हैं। इस बीच श्रीनगर में सेना प्रमुख बिपिन रावत ने गुरुवार को DGMO लेफ्टिनेंट जनरल ए.के. भट्ट सहित 7 कमांडर्स की मीटिंग ली। मीटिंग में LoC के इलाके में सुरक्षा की समीक्षा के साथ-साथ अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई। इस साल मई के महीने में पाकिस्तानी सेना की ओर से हुई फायरिंग और गोलाबारी से लगभग 12,000 लोग प्रभावित हुए हैं। 17 मई को पाकिस्तान की सेना ने राजौरी जिले के बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर स्थित चौकियों पर गोलीबारी की थी। 15-16 मई को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना ने रहवासी क्षेत्रों पर गोले बरसाए थे। पाकिस्तानी सेना ने 13 मई को नौशेरा इलाके में नियंत्रण रेखा पर रहवासी इलाकों और अग्रिम चौकियों पर मार्टार से गोले दागे थे, जिसमें दो आम नागरिकों की मौत हो गई थी जबकि तीन घायल हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here