बिहार टॉपर घोटाला पार्ट 2: पड़ताल कर रही पुलिस कर सकती है चौकाने वाले खुलासे

0
234

पटना । बिहार में टॉपर घोटाला पार्टू 2 की जड़ें कितनी गहरी हैं ये पुलिस की पड़ताल में धीरे धीरे अब सामने आ रहा है। आर्ट्स टॉपर गणेश कुमार की गिरफ़्तारी के बाद पुलिस गणेश की निशानदेही पर अभी तक कुल तीन लोगों की गिरफ़्तारी कर चुकी है।

पटना एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि इस मामले में अभी तक संजय गांधी माध्यमिक विद्यालय (जहाँ से गणेश ने दसवीं पास की थी) की प्रिन्सिपल देव कुमारी, स्कूल समिति के पूर्व सचिव और देव कुमारी के पति राजकुमार चौधरी और दलाल संजय शामिल हैं।

पटना एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक़ दो और लोगों के नाम सामने आए हैं जिनकी जल्द ही गिरफ़्तारी होगी, पूछताछ जारी है और जो भी इस फर्ज़ीवाड़े में शामिल होगा, सभी लोग पकड़े जाएंगे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ पुलिस की पूछताछ में अभी तक कई चौंकाने वाले ख़ुलासे हो चुके हैं। पुलिस की पूछताछ में दलाल संजय ने बताया है कि संजय गांधी विद्यालय में पिछले 12 सालों से फर्ज़ीवाड़े का खेल चल रहा था जहां छात्रों से फ़र्स्ट डिविज़न पास कराने के नाम पर 10-15 हज़ार रुपए लिए जाते थे।

पुलिस ने स्कूल से एक डायरी भी बरामद की है जिसमें 500 से अधिक छात्रों के नाम और पते दर्ज हैं जिसमें नौंवी में दाख़िले से लेकर दसवीं में फ़र्स्ट डिवीजन नंबर दिलवाने के लिए गए पैसों का पूरा हिसाब-किताब है।

संजय के मुताबिक़ स्कूल में नौकरी पाने के लिए उम्र घटाने का गोरखधंधा चल रहा था, इसके लिए बैक डेट में नौंवी का रिज़ल्ट तैयार किया जाता था जिसके बाद रेजिस्ट्रेशन कराकर दसवीं में दाख़िला दिलाया जाता था।

इसके बाद छात्रों से तभी सम्पर्क किया जाता था जब फ़ॉर्म भरने आदि के नाम पर पैसों की वसूली करनी होती थी। फ़िल्हाल समस्तीपुर के चकहबीब स्थित इंटरमिडिएट स्कूल का प्रिन्सिपल और उसका सचिव फ़रार है जिसके लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है और पुलिस को उम्मीद है कि उनकी गिरफ़्तारी के बाद कुछ और हैरान करने वाले ख़ुलासे हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here