भारत हारा, ग्रुप बी बना ‘ग्रुप ऑफ डेथ‘

0
105

कुसाल मेंडिस (89), गुणाथिलाका (76) और कप्तान मैथ्यूज (52*) के जोरदार अर्धशतकों की बदौलत श्रीलंका ने गुरुवार को खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी के मैच में भारत के खिलाफ 322 रन का लक्ष्य हासिल करते हुए 7 विकेट से ऐतिहासिक जीत दर्ज की.

ये इस टूर्नामेंट में श्रीलंंका की पहली जीत है और इस जीत के साथ ही उसने सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा. श्रीलंका ने इस जीत के साथ ही वनडे क्रिकेट के इतिहास में अपना संयुक्त सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल किया. इससे पहले भी उसने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में 322 रन का टारगेट हासिल किया था.

भारत से जीत के लिए मिले 322 रन के बड़े लक्ष्य के जवाब में श्रीलंका ने पहला विकेट 11 रन पर गंवाने के बाद जबर्दस्त बल्लेबाजी की और जीत का लक्ष्य 8 गेंदें बाकी रहते ही 3 विकेट खोकर हासिल करके सबको चौंका दिया. कुसाल मेंडिस ने 93 गेंदों में 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से 89 और गुणाथिलाका ने 72 गेंदों में 7 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 76 रन की शानदार पारी खेली. इन दोनों ने दूसरे विकेट की साझेदारी में 159 रन जोड़ते हुए मैच भारत के हाथ से छीन लिया.

ये दोनों खिलाड़ी रन आउट हुए. लेकिन इसके बाद कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने ने 45 गेंदों में 52 रन और कुसाल परेरा ने रिटायर्ड हर्ट होने के पहले 44 गेंदों में 47 रन की पारी खेलते हुए श्रीलंका को जीत के लक्ष्य तक पहुंचा दिया. परेरा और मैथ्यूज ने चौथे विकेट के लिए 75 रन की साझेदारी की. 271 के स्कोर पर परेरा रिटायर्ड हर्ट हो गए. उसके बाद असेला गुणारत्ने ने 21 गेंदों में 34 रन की नाबाद पारी खेलीं और चौथे विकेट की साझेदारी में कप्तान मैथ्यूज के साथ मिलकर 5.4 ओवर में 51 रन जोड़ते हुए श्रीलंका को ऐतिहासिक जीत दिला दी.

इससे पहले टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए टीम इंडिया ने शिखर धवन के शतक (125) और रोहित शर्मा (78) और धोनी (63) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 50 ओवर में 6 विकेट पर 321 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था.

रोहित और धवन ने भारत को शानदार शुरुआत दिलाई और पहले विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी की. रोहित के 78 रन बनाकर आउट होने के बाद भारत का दूसरा विकेट 139 के स्कोर पर गिर गया और कप्तान कोहली जीरो पर आउट हो गए.युवराज भी फ्लॉप रहे और 7 रन ही बना सके. लेकिन चौथे विकेट के लिए धोनी और धवन ने 82 रन की जोरदार साझेदारी की.

इस बीच धवन ने वनडे में अपना दसवां शतक जमाया और 128 गेंदों में 15 चौकों और 1 छक्के की मदद से 125 रन बनाकर टीम इंडिया के 261 के स्कोर पर आउट हुए. धोनी ने वनडे में अपनी 62वीं हाफ सेंचुरी बनाई और 52 गेंदों में 7 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 63 रन बनाकर पारी के आखिरी ओवर में आउट हुए. निचले क्रम में केदार जाधव ने 13 गेंदों में 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 25 रन की पारी खेली और भारत का स्कोर 50 ओवर में 6 विकेट पर 321 रन तक पहुंचा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here