केजरीवाल के बाद अब कपिल मिश्रा ने कुमार विश्वास पर साधा निशाना

0
239

दिल्ली सरकार में पूर्व मंत्री और आम आदमी पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन के बाद अब AAP नेता कुमार विश्वास को अपना निशाना बनाया है. कपिल ने रविवार को कुमार विश्वास के घर जाकर उनसे मुलाकात करने की कोशिश की और दावा किया कि वह सत्येंद्र जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार के सबूत कुमार को देना चाहते हैं. हालांकि जब कपिल मिश्रा विश्वास के घर गए तो वह उस दौरान बरेली में अपने एक पारिवारिक कार्यक्रम में थे और घर पर मौजूद ना होने की वजह से कपिल मिश्रा को घर में आने की इजाजत नहीं दी गई.

कुमार विश्वास से कपिल मिश्रा की मुलाकात तो नहीं हुई लेकिन उन्होंने ट्विटर पर कुमार विश्वास के खिलाफ कई ट्वीट कर डाले. जिसमें कपिल ने लिखा ‘कहां हो भैया आपके घर आये हैं, सब पुराने साथी हैं. दरवाजे भी बंद क्यों? शीला, असीम और सत्येंद्र के लिए अलग-अलग कानून?’

ट्वीट के काफी देर बाद तक जवाब ना मिलने के बाद कपिल मिश्रा ने फिर से ट्वीट करते हुए लिखा ‘2 बजे तक इंतजार करूंगा, यह दरवाजा भी ऐसे बंद होगा जैसे सोनिया और शीला का बंद होता था ये नहीं सोचा था? घर के अंदर तो आने दो.’

कपिल मिश्रा के बार-बार ट्वीट करने के बावजूद भी जब कुमार विश्वास ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया तो कपिल ने आकर विश्वास पर फिर तीखा हमला बोलते हुए लिखा ‘भैया, काश आप पहले खुद मूल सिद्धांतों पर वापस आ जायें. दिल से दुआ और इंतजार उस दिन का’.

कुमार विश्वास ने 10 जून को राजस्थान के कार्यकर्ताओं के साथ चुनाव की तैयारी के लिए बातचीत के दौरान कहा था कि आम आदमी पार्टी राजस्थान विधानसभा चुनाव में अपने मूल सिद्धांतों पर लौटेगी. कुमार के इसी बयान को निशाना बनाकर कपिल मिश्रा ने खुद उनसे ही पहले मूल सिद्धांतों पर वापस आ जाने को कहा.

एक के बाद एक सोशल मीडिया पर पोस्ट करके कपिल मिश्रा ने कुमार समेत पार्टी के दूसरे बड़े नेताओं और विधायकों पर भ्रष्टाचार के आरोपों से संबंधित जवाब-तलब किया. लेकिन पार्टी के किसी बड़े नेता या विधायक ने उन्हें तवज्जों नहीं दिखा. इसके बाद फिर से कपिल मिश्रा ट्विटर पर लिखा ‘सत्येंद्र जैन के भ्रष्टाचार पर मौन को हथियार बना लिया गया है. India Against Corruption के साथी अब नेताओं, विधायकों से मिलकर सबूत देंगे. जनता को पता हो कि कौन-कौन सबूत देखने के बाद भी सत्येंद्र को ईमानदारी का सर्टिफिकेट देता है. कौन जानकर चुप, कौन अनजाने में.’

दिल्ली सरकार से निकाले जाने के ठीक अगले दिन से ही कपिल मिश्रा लगातार पहले सत्येंद्र जैन और फिर पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए एक के बाद एक आरोप लगा रहे हैं. इतना ही नहीं रविवार की शाम को अरविंद केजरीवाल के गूगल हैंगआउट पर कार्यकर्ताओं से हो रहे संवाद पर भी कपिल मिश्रा ने हमला करते हुए कहा कि केजरीवाल इस पूरे संभाग में सिर्फ आप अपनी बात कह रहे हैं और कार्यकर्ताओं के सवालों का जवाब नहीं दे रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here