जेइइ एडवांस्ड 2017 : पटना के अभ्युदय बने गुवाहाटी जोन में टॉपर, मिला 104वां रैंक

0
139

पटना : संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेइइ) एडवांस्ड, 2017 का रिजल्ट रविवार को जारी हो गया. इसमें पटना के अभ्युदय भारतीय ने गुवाहाटी जोन में टॉप किया है. उनका आॅल इंडिया रैंक 104 है. उन्हें 360 में 304 अंक मिले हैं. पटना के एसपी वर्मा रोड निवासी संजय कुमार भारतीय और नूपुर भारतीय के पुत्र अभ्युदय ने इस साल सीबीएसइ की 12वीं परीक्षा में 94.2% अंक लाये हैं.

उन्होंने 12वीं की पढ़ाई कोटा से, जबकि 10वीं की पढ़ाई डीपीएस, पटना से की है. वहीं, मुजफ्फरपुर के हर्षित कुमार को 206वां रैंक मिला है. बिहार में उनका दूसरा स्थान है. उन्हें 360 में 295 अंक मिले हैं. उनके पिता राकेश कुमार मधुबनी स्थित आरबीओ में मैनेजर हैं. हर्षित के भाई मुदित कुमार को भी सफलता मिली है. हालांकि, उनका रैंक 20988 है.

वहीं, गया के शशि कुमार मोदी को बिहार में तीसरा स्थान मिला है. अभयानंद सुपर 30 के छात्र शशि ने 291 अंकों के साथ 258वां रैंक हासिल किया. मुजफ्फरपुर के दीपांक अग्रवाल को 288 अंकों के साथ 308वां रैंक मिला है. दीपांक के पिता नरेश कुमार अग्रवाल बिजनेस हैं. फतुहा के डीएसपी अनोज कुमार के पुत्र अनुराग कुमार ने प्रथम प्रयास में ही सफलता प्राप्त की है. अनुराग ने 287 अंकों के साथ 334वां रैंक प्राप्त किया है. पटना की नम्रता प्रियदर्शनी को 481 और केशव को 487वां रैंक प्राप्त हुआ है.

अभयानंद सुपर 30 के संचालक पूर्व डीजीपी अभयानंद ने बताया कि उनके 19 विद्यार्थी सफल हुए हैं. इनमें शशि कुमार मोदी, केशव, श्रेयस राज व आकाश आनंद को टॉप रैंकिंग मिली है. वहीं, गणितज्ञ अानंद कुमार का दावा है कि उनके सुपर 30 के सभी 30 विद्यार्थियों को सफलता मिली है. आइआइटी मद्रास द्वारा 21 मई को आयोजित जेइइ एडवांस के लिए 172024 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराये थे, जिनमें 159540 शामिल हुए और रविवार को जारी रिजल्ट में 50455 परीक्षार्थी सफल हुए. इनमें 43318 छात्र और 7137 छात्राएं हैं. कुल 86% लड़के और 14% लड़कियों ने सफलता हासिल की. इनमें 23390 जेनरल, 13312 ओबीसी, 4710 एससी और एसटी परीक्षार्थी शामिल हैं. वहीं, सात विदेशी छात्रों ने भी सफलता प्राप्त की है. इस बार जेनरल का क्वालिफाइंग मार्क्स 128, ओबीसी का 115, एससी और एसटी का 64 रहा है.
अभ्युदय बोले, लक्ष्य पर करें फोकस, सफलता मिलेगी

जोनल टॉपर अभ्युदय भारतीय ने कहा कि 11वीं से ही मैं जेइइ की तैयारी में जुट गया था. अपने सभी शौक को दरकिनार कर पढ़ाई पर फोकस किया और मेहनत करता रहा, जिसका फल प्राप्त हुआ है. अब एक्सट्रा करिकुलम पर ध्यान देना है. फुटबॉल और गिटार बजाना मेरा शौक है. इस शौक को पूरा करना है. जेइइ की तैयारी कर रहे सभी स्टूडेंट्स से मैं कहना चाहूंगा कि आप एक गोल पर फोकस करें और उसके पीछे पड़ जाएं, सफलता जरूर मिलेगी. मैंने दो साल तक सब कुछ त्याग दिया और केवल पढ़ाई पर फोकस किया.

बिहार के टॉपर

अभ्युदय भारतीय 104
हर्षित कुमार 206
शशि कुमार मोदी 258
सन्नी 284
दीपांक अग्रवाल 308
अनुराग 334
ऋषभ अर्जुन 441
नम्रता िप्रयदर्शनी 481
केशव राज 487
फरहान अली 506
शिवम 536
श्रेयस राज 562
मनीष रंजन 854
आयुष भारद्वाज 932
आकाश आनंद 1040
चिन्मय कुमार 1170
ऋषभ रंजन 1385
सोनू कुमार 1703
अविनाश सिंह 2572
अंकित कुमार 2718
दशरथ कुमार 2757
आकाश कुमार 3478

गया की पटवाटोली के 15 छात्र सफल

मानपुर (गया) : जेइइ एडवांस में सफलता की अपनी पुरानी परंपरा को इस बार भी पटवाटोली ने बरकरार रखा है. गया-मानपुर के इस मुहल्ले के 15 बच्चों ने इस परीक्षा में सफलता हासिल की है. खास यह है कि इनमें कई गरीब बच्चे भी हैं, जो अत्यंत प्रतिकूल परिस्थितियों में पढ़-लिख कर कामयाब हुए हैं.

पटवाटोली के कामयाब विद्यार्थियों में दो लड़कियां भी हैं. पटवाटोली से इस बार जिन स्टूडेंट्स ने जेइइ एडवांस में जगह बनायी है, उनमें पूरन प्रसाद के बेटे सन्नी अव्वल हैं. सन्नी का ऑल इंडिया रैंक 284 (ओबीसी) है. सन्नी के अतिरिक्त पटवाटोली के ही ढालकेश्वर प्रसाद के पुत्र केदार नाथ, जग लाल प्रसाद के पुत्र विनीत कुमार, नागेंद्र प्रसाद के बेटे रंजन कुमार, अखिलेश्वर प्रसाद के बेटे कृष्णा कुमार, ललकू प्रसाद की बेटी डॉली राज, तालकेश्वर प्रसाद के बेटे रंजीत कुमार, भूलन प्रसाद के पुत्र रौशन कुमार, पप्पू कुमार के बेटे अमर कुमार, ख्याली प्रसाद के बेटे रंजीत कुमार, दीपक कुमार की बेटी सरस्वती कुमारी, गौतम राज, अंकित कुमार, परमानंद तथा चेतन कुमार ने भी जेइइ एडवांस में सफलता का झंडा गाड़ कर पटवाटोली का मान बनाये रखा है.

मानपुर हाइस्कूल व गया कॉलेज का प्रोडक्ट है पटवाटोली का टॉपर

पटवा टोली के टॉप रैंकर सन्नी के बारे में पता चला है कि उसने मानपुर हाइस्कूल से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी. इसके बाद वह गया कॉलेज में पढ़ने गया व वहीं से उसने 76.6 प्रतिशत अंकों के साथ आइएससी की परीक्षा पास की. सन्नी के परिजन पटवाटोली वस्त्र उद्योग से जुड़े हुए हैं. सन्नी के परिवार में पहले से ज्यादा पढ़े-लिखे लोग नहीं थे. परिणामस्वरूप सन्नी की पढ़ाई-लिखाई भी सामान्य छात्रों की तरह ही हुई है. सन्नी के अतिरिक्त कई दूसरे स्टूडेंट्स भी सामान्य घरों से आते हैं. इनके परिजन भी वस्त्र उद्योग से जुड़ कर मेहनत-मजदूरी कर घर-परिवार चलानेवाले हैं.

मानपुर से जेइइ उत्तीर्ण स्टूडेंट्स की संख्या 20

पटवाटोली समेत मानपुर शहरी इलाके के कुल 20 बच्चों को जेइइ एडवांस में जगह मिली है. पटवाटोली के अतिरिक्त मानपुर के जिन बच्चों को इस ऑल इंडिया कांपीटिशन में सफलता मिली है, उनके नाम हैं अभय कुमार, राहुल कुमार, गोपी कुमार, अमन कुमार व बब्लू कुमार
चंडीगढ़ का सर्वेश ऑल इंडिया टॉपर

नयी दिल्ली. जेइइ एडवांस्ड -2017 में चंडीगढ़ के सर्वेश मेहतानी ने ऑल इंडिया टॉप किया है. पुणे के अक्षत चुग दूसरे नंबर पर रहे और दिल्ली के अनन्य अग्रवाल को तीसरा स्थान मिला.

सर्वेश ने 360 में से 339 नंबर लेकर सफलता पायी. सर्वेश आइआइटी बॉम्बे से आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं. सर्वेश ने आइआइटी जेइइ मेन्स में भी ऑल इंडिया 55वां रैंक हासिल किया था. इस बार 21 मई को जेइइ एडवांस की परीक्षा का आयोजन किया गया था. यह परीक्षा देश भर के सभी आइआइटी में विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है.

परीक्षा में इस बार 1.7 लाख छात्रों ने हिस्सा लिया था. देश के 23 आइआइटी की 11000 से अधिक सीटों पर एडमिशन होना है. कोलकाता, बिरला हाइस्कूल के देबादित्य प्रमाणिक को पूर्वी रीजन का टॉपर घोषित किया गया है. प्रमाणिक ने ऑल इंडिया में 38वीं रैंक हासिल की है. शेड्यूल कास्ट कैटेगरी में कल्पित वीरवाल ने 109 वीं रैंक हासिल की है.

आगे क्या : ज्वांयट सीट अलोकेशन ऑथोरिटी (जोसा) सातवें राउंड में एडमिशन प्रक्रिया पूरी करेगी, ताकि आइआइटी की सभी सीटों पर एडमिशन सुनिश्च‍ित हो सके. आमतौर पर दो राउंड एडमिशन प्रक्रिया चलती है, पर पिछले साल छह राउंड लिया गया था, फिर भी 9660 सीट में 73 खाली ही रह गये. इस साल जोसा आइआइटी,एनआइटी, आइआइटी और जीएफटीआइ के लिए एडमिशन लेगा. मालूम हो कि देश के 23 आइआइटी में करीब 11,0 00 सीटें मौजूद हैं.

कहां होगा नामांकन

जेइइ एडवांस कटआॅफ के आधार पर ही यह तय होगा कि आपका एडमिशन आइआइटी में होगा या नहीं. लेकिन इसके लिए आपको थोड़ा इंतजार करना होगा. क्योंकि छात्रों को एडमिशन प्रक्रिया में काउंसलिंग के दौरान ही जेइइ एडवांस कटऑफ 2017 लिस्ट की जानकारी मिल पायेगी. यानी काउंसलिंग के दौरान ही आपको यह पता चलेगा कि आपको कौन-सा आइआइटी मिल रहा है. क्वालिफाइ करने वाले कैंडिडेट्स की काउंसलिंग 19 जून से शुरू होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here