वे तकरार करते रहें, हमलोग नहीं होने वाले डायवर्ट : सीएम

0
444

पटना : गंगा नदी पर बने आरा-छपरा पुल (वीर कुंवर सिंह सेतु) और दीघा-सोनपुर पुल (जेपी सेतु) के एप्रोच रोड को रविवार को बिहार की जनता को समर्पित किया गया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की मौजूदगी में इन दोनों का लोकार्पण किया. मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार और भाजपा पर जम कर निशाना भी साधा. उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिनके लिए काम हो रहा है, उन्हें पता है. उन्हें किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं है. कुछ वैसे लोगों को शिकायत है, जिन्हें बिहार के विकास से कोई मतलब नहीं है. वे तकरार करते रहें, हमलोग डायवर्ट होने वाले नहीं हैं.

इसी तरह काम करते रहेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग कई तरह की बात करते हैं, लेकिन वह उसका जवाब नहीं देते हैं. अगर जवाब देने लगे तो सवाल उठाने वाले की महत्ता बढ़ जाती है. हम क्यों किसी का महत्व बढ़ाएं, काम करते रहिए. महागठबंधन को जनता ने काम करने के लिए जनादेश दिया है, अब जिसे जनादेश नहीं मिला है, तो वह जुबान नहीं चलायेगा तो क्या चलायेगा. उनके प्रति सहानुभूति तो रखनी चाहिए. नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग लोकार्पण पर सवाल उठा रहे हैं. लोकार्पण किसी भी दिन हो, तो उसमें किसी को क्या परेशानी है.

जब सोनपुर रेल पुल का निर्माण पूरा हो गया, तो जिनके प्रयास से यह शुरू हुआ था, उन्हें तो वे लोग भूल गये. क्यों नहीं याद रहा? उद्घाटन समारोह में भी नहीं बुलाया. रेल मंत्री रहते हुए उन्होंने (नीतीश कुमार) ही तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से गांधी मैदान में इसका कार्यारंभ कराया था. अभी बिहार के मुख्यमंत्री हैं, इसके बावजूद राज्य सरकार को भूल गये. उन्होंने कहा कि दीघा-सोनपुर का जब कार्यारंभ हुआ, तो सिर्फ रेल पुल का निर्माण होना था, लेकिन बाद में रेल सह सड़क पुल का निर्णय लिया गया. इसमें तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद का योगदान था. इसके निर्माण में क्या-क्या कठिनाइयां आयीं, किनका क्या योगदान है, सबको गौण कर कर दिया गया. लगता है कि किसी का इसमें कोई योगदान ही नहीं है, सभी को भूल गये और दीघा-सोनपुर रेल पुल का उद्घाटन कर दिया. सीएम ने कहा कि जब पुल निर्माण हो रहा था, तो उन्होंने पुल की दोनों ओर जाकर लोगों से मुलाकात की अौर हाल्ट के निर्माण किये जाने पर उसे बनवाया. साथ ही पाटलिपुत्र रेलवे स्टेशन का भी निर्माण करवाया. राज्य सरकार सहयोग नहीं देती, तो यह सब संभव नहीं था. जिनके कार्यकाल में सब कुछ काम हुआ, उन्हें भी भूल जाते हैं और उद्घाटन करते हैं.

आरा-छपरा पुल के एप्रोच रोड के लिए गठित होगी एक्सपर्ट कमेटी

मुख्यमंत्री ने कहा कि आरा-छपरा पुल निर्माण की मंजूरी 2010 में भी मिली. इसमें कई तरह की समस्या आयी, जिसका समाधान किया गया. गंगा नदी की धार की वजह से 400 मीटर का पुल भी बनाना पड़ा, लेकिन 2016 में आयी बाढ़ का लेबल अब तक का सबसे ज्यादा है. एप्रोच पथ के आसपास पानी की जो धार थी, उससे स्थिति बदल रही है. इसको देखते हुए एक तकनीकी एक्सपर्ट कमेटी गठित की जा रही है. यह कमेटी इसका क्या मॉडिफिकेशन किया जा सकता है, उसको लेकर सलाह देगी. क्या करना होगा, पुल की लंबाई, दूरी बढ़ानी होगी, तो वह किया जायेगा. इसमें जल संसाधन, पर्यावरण, पथ निर्माण, आइआइटी के एक्सपर्ट रहेंगे.

उन्होंने कहा कि दीघा-सोनपुर का जो एप्रोच रोड बना है, उससे पूरा ट्रैफिक कंट्रोल नहीं हो सकता है. इसके लिए अलग से एलिवेटेड एप्रोच रोड भी बन रहा है. जब यह बनेगा, तो देश के विकसित राज्यों के बड़े शहरों में जिस तकनीक से सहारे काम हुआ है, वह यहां भी हो रहा है. बेली रोड से 49 रास्ते निकलते हैं. वहां लोहिया पथचक्र का निर्माण हो रहा है. गंगा नदी पर और पुल का निर्माण हो रहा है. दीदारगंज-बिदुपुर तक छह लेन का पुल बन रहा है. बख्तियारपुर-ताजपुर के बीच पीपीपी मोड में और सुल्तानगंज से आगवानी घाट तक पुल बन रहा है. राजापुर समेत जहां भी जरूरत होगी, वहां इस तरह के पुलों-फ्लाइओवर का निर्माण होगा.

सड़क पुल निर्माण से आवागमन में होगी सुविधा, बढ़ेगा व्यापार

मुख्यमंत्री ने कहा कि ज्यादा-से-ज्यादा सड़क, पुल निर्माण कराया जा रहा है. इससे आवागमन में सुविधा होगी और व्यापार बढ़ेगा. सरकार ने बिहार के किसी सुदूर जिलों में पांच घंटे में पटना पहुंचने के लक्ष्य रखा है. इसके लिए सड़कों का चौड़ीकरण, नयी सड़क-पुलों का निर्माण कराया जा रहा है. किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है. हर इलाके व तबके का विकास हो रहा है. गांव-शहर में पक्की सड़क-नाली का निर्माण, नल का पानी व हर घर शौचालय बनवाया जा रहा है. जो भी गांव प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से छूट गये हैं, उन्हें चिह्नित कर राज्य सरकार अपनी ओर से निर्माण करायेगी. उन्होंने कहा कि नेशनल हाइवे की स्थिति ठीक नहीं है. उसका रख-रखाव नहीं होता है. इसके निर्माण राज्य सरकार ने 970 करोड़ खर्च किये हैं, जो केंद्र से अब तक नहीं मिले हैं.

बाल विवाह-दहेज प्रथा के खिलाफ दो अक्तूबर से अभियान

नीतीश कुमार ने कहा कि बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ गांधी जयंती के दिन दो अक्तूबर से अभियान चलेगा. इसके लिए कानून है, लेकिन पालन नहीं होता है. साथ ही छात्र-छात्राओं को गांधी जी के विचारों से अवगत भी कराया जायेगा. बाबू कुंवर सिंह के इतिहास में ठीक से व्याख्या नहीं की गयी है, उसे भी सबको जानना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी से समाज में शांति हुई है. 2015-16 की तुलना में 2016-17 में राजस्व उगाही में मात्र 1000 करोड़ रुपये का फर्क आया है. शराब पीने वालों पर नजर रखने का काम सिर्फ सरकार का नहीं, जन-जन का काम है. शराब छोड़ने वाले दूसरे नशा की ओर न जाये, इसके लिए भी अभियान चल रहा है.

स्पेशल पैकेज व विशेष दर्जा का वादा पूरा हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार को स्पेशल पैकेज और विशेष दर्जा का जो वादा केंद्र सरकार ने किया है, वह पूरा हो. इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री को ज्ञापन भी दे दिया है. उन्होंने कहा कि गंगा नदी की अविरलता बनी रहे, यह आवश्यक है. गंगा की चारों तरफ गाद जमा है, जो इसकी अविरलता को बाधित कर रहा है. इसको लेकर प्रधानमंत्री से मिल भी चुके हैं. केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती और एक्सपर्ट की टीम भी आयी. टीम ने क्षेत्र का निरीक्षण भी किया. नयी कमेटी का गठन होगा, जो पूरे मामले को देखेगी.

दीघा-सोनपुर रेल पुल जिनके प्रयास से शुरू

हुआ, उद्घाटन में उन्हें भूल गयी केंद्र सरकार

सीएम ने गले मिल लालू को दी जन्मदिन की बधाई

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को सुबह 10 बजे राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के आवास पर पहुंचे और उन्हें 70वें जन्मदिन की बधाई दी. मुख्यमंत्री ने पहले लालू प्रसाद को गुलदस्ता भेंट की और फिर दोनों एक-दूसरे के गले मिले. नीतीश कुमार ने कहा कि सामाजिक क्षेत्र में लालू प्रसाद का बड़ा योगदान है. छात्र जीवन से ही उनको देख रहे हैं. कम्युनल फोर्स को हराने के िलए हूं जवान -11

सही मायने में हम कर रहे ‘सबका साथ सबका विकास’, एक-एक वादे को कर रहे पूरा : तेजस्वी

पटना : उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि सही मायने में हमलोग ‘सबका साथ सबका विकास‘ का काम कर रहे हैं. एक-एक वादों को पूरा कर रहे हैं. जनता के विश्वास को टूटने नहीं देंगे. सभी क्षेत्रों में काम हो रहा है. महागठबंधन के काम की चर्चा पूरे देश में हो रही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार को ऊंचाइयों पर पहुंचाना है. पथ निर्माण निगम की स्थापना दिवस पर दीघा-सोनपुर पुल का एप्रोच रोड व आरा-छपरा वीर कुंवर सिंह पुल सहित अन्य परियोजनाओं के उद्घाटन पर उन्होंने कहा कि बिहार के विकास में महागठबंधन ने एक और कदम बढ़ाया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के मार्गदर्शन में विकास का काम हो रहा है. उन्होंने पुल निर्माण निगम के स्थापना दिवस पर अभियंताओं व अधिकारियों को शुभकामना दी. कहा कि उन मजदूरों को सबसे अधिक श्रेय मिलना चाहिए, जिन्होंने पुल व एप्रोच रोड का निर्माण काम पूरा किया. इससे शाहाबाद व मगध के क्षेत्र के लोगों की दूरी कम होगी. किसानों के साथ व्यापारियों को भी लाभ होगा.

गांधी सेतु पर लगनेवाले जाम से छुटकारा मिलने के साथ उसके जीर्णोद्धार का काम शुरू हो पायेगा. उन्होंने कहा कि आज का दिन हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद का जन्मदिन है. नकारात्मक सोच के लोगों ने कहा कि लालू प्रसाद को तोहफा दिया जा रहा है, जबकि यह राज्य की जनता को समर्पित है. ऐसे लोगों का एकमात्र यही काम रह गया है. मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए तेजस्वी ने कहा कि गांधी सेतु के समानांतर पुल, सड़क के लिए 55 हजार करोड़, सवा लाख करोड़ के विशेष पैकेज की घोषणा कहीं दिखती ही नहीं है. हम विकास की गंगा, तो केंद्र झूठ की गंगा बहा रहा है. हम विकास व विश्वास का सेतु, तो केंद्र अविश्वास व विनाश के सेतु की बात करते हैं.

रोड मास्टर प्लान 2035 बना

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि रोड मास्टर प्लान, 2035 बना है. इस पर पांच-पांच साल का एक्शन प्लान बना कर काम होना है. राज्य की तीन मीटर वाली सड़कों को पांच मीटर और पांच मीटर वाली सड़कों को सात मीटर चौड़ा बनाया जायेगा. गंगा पथ, एलिवेटेड रोड, कच्ची दरगाह-बिदुपुर, विक्रमशिला सेतु सहित अन्य मेगा प्रोजेक्ट को समय पर पूरा किया जायेगा. निर्माण कार्यों को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सहयोग व मार्गदर्शन हमेशा मिलता है.

पुल का किया मुआयना

कार्यक्रम के बाद उपमुख्यमंत्री अधिकारियों के साथ दीघा-सोनपुर पुल गये. वह पुल पर कुछ दूर पैदल चले. उनके साथ मंत्री विजय प्रकाश व आलोक मेहता, पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा, पथ विकास निगम के सीजीएम चंद्रशेखर, डिप्टी सीजीएम संजय कुमार, अरुण प्रसाद, पुल निर्माण निगम के एमडी रंजन कुमार, अभियंता सुनील कुमार सहित अन्य अधिकारी थे. पुल पर बड़ी संख्या में समर्थकों ने उनका अभिवादन किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here