किसान आंदोलन: हार्दिक के बाद सिंधिया हिरासत में

0
322

आंदोलनरत किसानों से मिलने निकले कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को मंदसौर में प्रवेश करने से पहले ही रोक लिया गया। इस दौरान उनके साथ मौजूद उनके समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की। जब ज्योतिरादित्य सिंधिया को समझाने पर भी वह नहीं माने तो उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बता दें कि इससे पहले मंगलवार सुबह ही पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को भी मंदसौर जाने से पहले हिरासत में लिया गया था। वहीं बुधवार को राज्य के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी मंदसौर जाकर किसानों से मिलने वाले हैं। किसान आंदोलन को लेकर कांग्रेस सत्ताधारी बीजेपी पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती। इसी के मद्देनजर पार्टी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंदसौर जाकर मृतक किसानों के परिवार से मिलने का फैसला लिया था। इस दौरान मंदसौर जाने से पहले ही सिंधिया को रोक लिया गया। कांग्रेस नेता ने पत्रकारों से कहा, ‘धारा 144 लगी है तो मैंने पुलिस से कहा कि मैं अकेले जाऊंगा, कौन रोक सकता है अगर इंसान अकेले जाना चाहता है।’ इससे पहले गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी मंगलवार को मंदसौर जाने के लिए निकले। हालांकि, उन्हें नीमच में ही पुलिस हिरासत में ले लिया गया। पटेल सोमवार को गुजरात से सड़क के रास्ते उदयपुर पहुंचे थे। वह यहां एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। यहां उन्होंने कहा था कि गुजरात और राजस्थान के पाटीदार समुदाय के लोग मध्य प्रदेश के किसानों के साथ हैं। हालांकि, पटेल को मंदसौर पहुंचने से पहले ही रोके जाने का अंदाजा पहले से था। मंदसौर जाने को लेकर पत्रकारों के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था, ‘मैं अपना काम करूंगा और पुलिस और प्रशासन अपना काम करेंगे।’ वहीं हिंसक प्रदर्शनों के दौरान पांच किसानों की मौत के बाद मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंदसौर जाने का फैसला किया है। वह बुधवार को इलाके का दौरा करेंगे। वह यहां मृत किसानों के परिवार से मुलाकात करेंगे और ताजा हालात की समीक्षा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here