विजय माल्या केस में लंदन में 6 जुलाई को होगी अगी सुनवाई

0
541

लंदन। बैंकों का कर्ज लेने के बाद देश छोड़कर भाग चुके विजय माल्या के प्रत्यार्पण को लेकर लंदन की एक अदालत में सुनवाई 6 जुलाई तक टल गई है। अब माल्‍या को 6 जुलाई को कोर्ट में पेश होना होगा।

इस बीच भारत के विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने इस मामले में बयान देते हुए कहा है कि माल्या का प्रत्यार्पण होगा लेकिन यह इतना आसान नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय की ओर से ब्रिटेन की सरकार को दस्तावेज भेज दिये गए है। ब्रिटेन के कानून के मुताबिक विजय माल्या को भारत लाने की कोशिशे की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि विजय माल्या के भारत लाने को लेकर कोई समयसीमा निर्धारित नहीं की गयी है, जब भी ब्रिटेन की ओर से विजय माल्या की प्रत्यर्पण की इजाजत मिलेगी, उस वक्त ही हम विजय माल्या को भारत वापस ला सकेंगे। जनरल वीके सिंह का यह बयान उस सवाल के जवाब में आया, जिसमें पूछा गया विजय माल्या को भारत सरकार कब तक लाया जा रहा है।

इससे पहले मामले की सुनवाई 17 मई को होनी थी जो आज तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय का चार सदस्यीय दल मई महीने की शुरूआत में लंदन गया था। सीपीएस सीबीआई और ईडी की ओर से मुहैया कराए गए दस्तावेजों के आधार पर दलीलें देगी। पूर्व किंगफिशर एयरलाइंस के 61 वर्षीय प्रमुख माल्या ने भारत के विभिन्न बैंकों से 9000 करोड़ रूपए से अधिक का कर्ज लिया हुआ है।

वह पिछले साल मार्च से ही ब्रिटेन में रह रहे हैं। इसी साल 18 अप्रैल को स्कॉटलैंड यार्ड ने धोखाधड़ी के आरोपों में माल्या को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद ब्रिटिश अदालतों में आधिकारिक प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद माल्या को सशर्त जमानत पर छोड़ दिया गया था।

उन्होंने 6.5 लाख पाउंड का जमानती बॉण्ड भरने के अलावा अदालत को यह आश्वासन दिया था कि वह प्रत्यर्पण से जुड़ी सभी शर्तों का पालन करेंगे। इन शर्तों में पासपोर्ट समर्पित करना और कोई भी यात्रा दस्तावेज रखने के प्रतिबंध का पालन करना शामिल है।
– See more at: http://naidunia.jagran.com/world-hearing-on-the-extradition-of-vijay-mallya-1198738#sthash.cJWMnnVx.dpuf

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.