शराबबंदी पर पहली बड़ी कार्रवाई, तीन पुलिस अधिकारी सेवा से बर्खास्त

0
269

शराबबंदी कानून के बाद पुलिस ने पहली बार सबसे बड़ी कार्रवाई की है। डीआइजी राजेश कुमार ने तीन पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें तत्काल सेवा से बर्खास्त कर दिया है। बर्खास्त किए गए अधिकारियों के नाम हैं- विश्वंभर प्रसाद, सुनील कुमार और श्रवण कुमार। ये तीनों अधिकारी पटना के बेऊर जेल में तैनात थे और इनपर शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप था। इन सबके साथ ही फतुहा के थानाध्यक्ष अविनाश कुमार को निलंबित कर दिया गया है। अविनाश कुमार पर कर्तव्यहीनता और लापरवाही का आरोप है। इससे पहले एसएसपी मनु महाराज ने शराबबंदी मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए पूरे जक्कनपुर थाने को लाइन हाजिर होने का निर्देश दिया था। जक्कनपुर थाना के थानाध्यक्ष समेत सभी पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था। प्रदेश में शराब को लेकर पहली बार पुलिस अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की गयी थी। पटना के बेऊर थाने के थानाध्यक्ष धीरेंद्र कुमार पांडेय समेत सभी 29 पुलिस पदाधिकारियों और जवानों को लाइन हाजिर कर दिया गया था और उन्हें पुलिस लाइन में योगदान करने का निर्देश दिया गया था। शराब को लेकर पहले भी एक दर्जन से अधिक थानाध्यक्षों पर कार्रवाई हो चुकी है और उन्हें पद से हटाया जा चुका है। फुलवारीशरीफ के थानाध्यक्ष को हटाया गया था। साथ ही दारोगा व एएसआइ पर भी कार्रवाई हो चुकी है। लेकिन, एक साथ पूरे थाने के पदाधिकारियों पर एक साथ कार्रवाई प्रदेश में शराबबंदी के बाद पहली बार है। सरकार ने स्पष्ट निर्देश दे रखा है कि शराब की तस्करी या बिक्री के बारे में किसी भी थाना क्षेत्र से सूचना मिलती है, तो थानाध्यक्ष के साथ ही थाने के सभी पदाधिकारियों और जवानों पर कार्रवाई की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here