भारत में IS के लिए भर्ती कर रहे शख्स को अमेरिका ने ग्लोबल आतंकी घोषित किया

0
279

नई दिल्ली। भारत में रहकर आतंकी संगठन आईएस के लिए भर्ती करने वाले कर्नाटक के एक युवक को अमेरिका ने ग्लोबल आतंकी घोषित किया है। यह शख्स कर्नाटक के भटकल का रहने वाला है और इसका नाम मोहम्मद शफी अरमार है।

अरमार 2011 में पहली बार मुंबई पुलिस की लिस्ट में शामिल हुआ था। उस समय वो अपने भाई के साथ पाकिस्तान में था और इंडियन मुजाहिदीन के लिए काम करते थे।

अमेरिकी विदेश विभाग ने नवंबर 2015 के पेरिस हमले और मार्च 2016 के ब्रुसेल्स हमले के कोआर्डिनेटर को भी प्रतिबंधित कर दिया है।

अमेरिका के स्टेट ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय आतंकियों पर विशेष रूप से तैयार सूची में अरमार का नाम भी शामिल कर दिया।

छोटे मौला, अंजान भाई और यूसुफ अल-हिंदी जैसे कई उपनाम से विख्यात 30 वर्षीय अरमार के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी लंबित है।

इंडियन मुजाहिदीन कैडरों पर कार्रवाई शुरू होने के बाद अरमार अपने बड़े भाई के साथ पाकिस्तान भाग निकला।

अरमार ने अंसार उल तौहिद नाम से संगठन बनाया जो बाद में आईएस से जुड़ गया। तकनीक का जानकार अरमार संपर्क के लिए फेसबुक एवं अन्य निजी मैसेंजर सर्विस का इस्तेमाल करता है।

वह ब्रेनवाश कर भारत, बांग्लादेश एवं श्रीलंका से युवकों को भर्ती करता है। वर्ष 2013 में नेपाल सीमा के पास गिरफ्तार यासीन भटकल से पूछताछ में अरमार के आईएस से जुड़े होने की बात सामने आई थी।

इससे पहले मध्य प्रदेश के रतलाम में आईएस के साथ जुड़े संदिग्धों की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की जांच के दौरान पहली बार उसका नाम सामने आया था।

आईएस संचालकों से पूछताछ में पता चला कि अरमार भारतीय युवकों को कट्टरपंथी बनाता है। वह युवकों को जुंड उल खलीफा-ए-हिंद में आनलाइन भर्ती किया करता था।
– See more at: http://naidunia.jagran.com/national-usa-designates-is-recruiter-in-india-as-global-terrorist-1203087#sthash.5E7bocOP.dpuf

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here