रामनाथ कोविंद ने दिया इस्तीफा, केशरी नाथ त्रिपाठी संभालेंगे बिहार

0
129

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, जिसे राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने मंजूर कर लिया है। उनकी जगह पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी बिहार के राज्यपाल के रूप में अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे। एनडीए की ओर राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में अपने नाम की घोषणा होने के बाद रामनाथ कोविंद दिल्ली गए हैं, जहां उन्होंने एनडीए के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। रामनाथ कोविंद 23 जून को राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल करेंगे। इससे पहले सोमवार को, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की बैठक में हुई आम सहमति के बाद रामनाथ कोविंद का नाम घोषित किया था। इसकी सूचना मिलते ही कोविंद नई दिल्ली पहुंचे और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और उन्हें और बिहार के लोगों को धन्यवाद दिया। प्रधान मंत्री मोदी ने रामनाथ कोविंद के लिए कॉंग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधान मंत्री डाक्टर मनमोहन सिंह से भी समर्थन देने की मांग की। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्राबाबू नायडू और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से भी एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को समर्थन देने की बात की। प्रधान मंत्री ने कहा कि कोविंद एक असाधारण व्यक्तित्व के धनी हैं और उन्होंने गरीब, दलित और हाशिए पर खड़े लोगों के लिए अपनी आवाज मजबूत की है। हालांकि, कुछ राजनैतिक दलों को यह फैसला रास नहीं आया है। कांग्रेस और शिवसेना ने भाजपा के इस फैसले की आलोचना की है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि “अगर कोई एक वोट बैंक पाने के उद्देश्य से एक दलित राष्ट्रपति बनाने की कोशिश कर रहा है तो हम उनके साथ नहीं हैं, इस बीच, तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी कोविंद की उम्मीदवारी से खुश नहीं हैं। हालांकि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव सहित कई नेताओं ने भाजपा के इस फैसले का स्वागत किया है। नीतीश कुमार ने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए कहा है कि ये मेरे लिए गर्व की बात है कि बिहार के राज्यपाल राष्ट्रपति के उम्मीदवार हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि इस मामले पर पार्टी से चर्चा करने के बाद ही कोई निर्णय लेंगे। बता दें कि भारत के अगले राष्ट्रपति के लिए चुनाव 17 जुलाई को होने जा रहा है। चुनाव आयोग ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है और राष्ट्रपति पद के नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है जो 28 जून तक जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here