अमेरिकी छात्र की मौत पर गहराया तनाव, उत्तर कोरिया ने ट्रंप को बताया ‘मनोरोगी’

0
284

सिओल,। उत्तर कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ‘मनोरोगी’ करार दे दिया। दोनों देशों के बीच बीते सप्ताह अमेरिकी छात्र ओट्टो वार्मबीयर की मौत के बाद से तनाव और बढ़ गया है। उत्तर कोरिया में 18 महीने जेल में रहने के बाद जब से ओट्टो को अमेरिका भेजा गया, तभी से वह कोमा में था। प्योंगयांग के आधिकारिक अखबार ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति अपने यहां एक कठिन परिस्थिति में थे। उसने दावा किया कि उत्तर कोरिया पर हमला कर वह अपने देश के राजनीतिक हालात से ध्यान हटाना चाहते थे।

अखबार के संपादकीय में यह भी लिखा है कि दक्षिण कोरिया को यह एहसास होना चाहिए कि मनोरोगी ट्रंप केवल आपदा के लिए नेतृत्व करते हैं। अगर वह ट्रंप की सुनेगा तो सिर्फ तबाही ही होगी।

गौरतलब है कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु परीक्षण व मिसाइल प्रक्षेपण को लेकर तनाव बना हुआ है। इसके चलते संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया पर दो दशह के सबसे कड़े प्रतिबंध भी लगाए हैं। उत्तर कोरिया ने तो अमेरिका को परमाणु हमले की भी धमकी दे दी है। अमेरिका ने भी कोरियाई प्रायद्वीप में अपना लड़ाकू समूह भेज दिया है। मंगलवार को ही अमेरिका के दो बी-1 बॉम्बर विमानों ने प्रायद्वीप के ऊपर से उड़ान भरी थी।

उ.कोरिया पर और दबाव बढ़ाए चीन

अमेरिका का मानना है कि तनाव बढ़ने से रोकने के लिए चीन को उत्तर कोरिया पर और अधिक दबाव बनाना चाहिए। अमेरिकी राजनयिकों और शीर्ष रक्षा अधिकारियों ने सुरक्षा वार्ता के लिए अपने चीनी समकक्षों से मुलाकात के दौरान इस बात पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि चीन उन कंपनियों पर अंकुश लगाए, जो संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों का उल्लंघन करते हुए उत्तर कोरिया के साथ कथित तौर पर सौदे कर रही हैं। वहीं, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जाय-इन ने कहा कि चीन को उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर कड़े कदम उठाना होंगे।

चीन से संबंधों पर दी सफाई

इस बीच, ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के चीन के साथ बेहतर संबंध हैं। ट्रंप एक ट्वीट को लेकर सुर्खियों में आए थे जिसमें उन्होंने लिखा था कि उत्तर कोरिया को नियंत्रित करने से जु़ड़े चीन के प्रयास कारगार साबित नहीं हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here