MP: किसानों का दुख सुनने की बजाय ‘ट्यूबलाइट’ का टिकट बेचते दिखे शिवराज के मंत्री गोपाल भार्गव

0
390

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन गरमाने के बाद 15 दिन में 22 किसान खुदकुशी कर चुके हैं. एमपी का मालवा हो, बुंदेलखंड या फिर निमाड़, हर तरफ से खुदकुशी की खबरें आ रही हैं लेकिन इसी बीच शिवराज सरकार के एक मंत्री गोपाल भार्गव कल रिलीज हुई सलमान खान की फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ का टिकट बेचते दिखे हैं.

गोपाल भार्गव मध्य प्रदेश सरकार में पंचायती राज मंत्री हैं. उनके जिम्मे किसानों की समस्याएं देखना है, उन्हें सुलझाने की कोशिश करना है लेकिन इस सबसे बेपरवाह गोपाल भार्गव कल सागर जिले के गढ़ाकोटा में फिल्म ‘ट्यबूलाइट’ के टिकट बेच रहे थे.

बता दें कि भार्गव 1978 से चल रहे इस सिनेमा हॉल के मालिक हैं और उनके विधायक बनने से पहले से यह सिनेमा हॉल चल रहा है.

मंत्री जी टिकट बेच रहे थे तो उनके चेले चपाटे भी कैसे पीछे रहते. मंत्री जी को मैंगो जूस लाकर पिलाया जा रहा था. मंत्री जी का दावा है कि अपनी टॉकीज में टिकट बेचने का ये काम तो वो 1978 से करते आ रहे हैं.

इसे किसानों की बदकिस्मती कहिए कि जब मंत्री जी टिकट बेच रहे थे उसी समय सागर और उसके पड़ोस के छतरपुर जिले में खुदकुशी करने वाले दो किसानों की अर्थियां उठ रही थीं लेकिन मंत्रीजी ने उन किसानों के परिवार वालों के आंसू पोंछने के बजाय टॉकीज में टिकटों की बुकिंग को अपना पहला कर्तव्य समझा.

कल छतरपुर जिले के जिस किसान रघुवीर यादव ने जान दी. उसका घर मंत्रीजी के घर से महज 50-60 किलोमीटर दूर है. लेकिन मंत्रीजी ने वहां जाना गवारा नहीं समझा. सुनिए मध्य प्रदेश के पंचायती राज मंत्रालय का ओहदा संभालने वाले गोपाल भार्गव क्या कह रहे हैं.

आपको बता दें 6 जून को मंदसौर गोलीकांड के बाद से अबतक मध्य प्रदेश में कर्ज से दबे 22 किसान खुदकुशी कर चुके हैँ. इसी बीच मध्य प्रदेश सरकार ने कल एक आयोग का गठन किया है, जो फसल की लागत और उसकी बिक्री को लेकर जरूरी सिफारिशें देगा लेकिन सवाल ये है कि क्या इस तरह मामला ढकने की कोशिशों से किसानों की समस्या का इलाज निकलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here