ईद के लिए GJM ने दी 12 घंटे की ढील

0
787

जीजेएम ने अपने रुख में बदलाव करते हुए बंद के दौरान मुस्लिमों के लिए 12 घंटे की ढील देने का फैसला किया ताकि दार्जिलिंग की पहाड़ियों में सोमवार को वे ईद मना सकें। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘पहाड़ियों में मुस्लिम समुदाय को 26 जून को सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक 12 घंटे की ढील दी जाएगी ताकि वे ईद मना सकें। मुस्लिम समुदाय स्टिकरों के साथ वाहनों का इस्तेमाल भी कर सकता है जिसमें वे बता सकते हैं कि वे किस उद्देश्य से मैदानी इलाकों में जा रहे हैं और अपने रिश्तेदारों से मिल सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘ इसके अलावा सब कुछ पहले जैसा है। अनिश्चितकालीन बंद जारी रहेगा।’ इससे पहले शुक्रवार को जीजेएम प्रमुख बिमल गुरंग ने कहा था कि ईद मनाने के लिए मुस्लिमों को कोई ढील नहीं दी जाएगी। ईद मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार है। उसी दिन, जीजेएम ने पहाड़ियों को बोर्डिंग स्कूलों के लिये 12 घंटे के बंद में ढील दी थी ताकि फंसे हुए छात्रों को वहां से निकाला जा सके। इस बीच, सिंघमारी में जीजेएम मुख्यालय को सोमवार को खोला गया। यह 15 जून को पुलिस की छापेमारी के बाद से बंद था। जीजेएम के वरिष्ठ नेताओं और समर्थकों ने चौक बाजार से जीजेएम मुख्यालय तक रैली निकाली और ‘हम गोरखालैंड चाहते हैं ‘ के नारों के साथ इसे खोला। जीजेएम समर्थकों ने अन्य जुलूस में भी हिस्सा लिया। इस बीच, अलग गोरखालैंड राज्य की मांग को लेकर चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल आज 11 वें दिन में प्रवेश कर गई। आंदोलनकारी पश्चिम बंगाल से अलग गोरखालैंड राज्य बनाने की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here