अगले साल से बदलेगा वित्त वर्ष? 2018 में नवंबर में पेश हो सकता है आम बजट

0
77

अगले साल से देश के इकॉनमिक सिस्टम में बड़ा बदलाव करते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार वित्तीय वर्ष को जनवरी से दिसंबर कर सकती है। इसके चलते आगामी आम बजट नवंबर 2018 में पेश किया जा सकता है। यदि ऐसा होता है तो यह 150 साल पुरानी परंपरा का खात्मा होगा। उच्च स्तरीय सरकारी सूत्रों ने बताया कि अगला बजट केंद्र सरकार की ओर से नवंबर में पेश किया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी की ओर से बदलाव की वकालत किए जाने के बाद सरकार फाइनैंशल इयर में बदलाव के लिए काम कर रही है और इसे कैलेंडर इयर की तर्ज पर ही रखा जाएगा। इस साल सरकार ने बजट को एक महीने पहले अडवांस करते हुए 1 फरवरी को पेश किया था, इसके बाद यह दूसरा ऐतिहासिक बदलाव होगा। इससे पहले दशकों से देश में फरवरी के अंतिम सप्ताह में ही आम बजट को पेश करने की परंपरा चली आ रही थी। सरकार के जिस प्रस्ताव पर चर्चा चल रही है, उसके मुताबिक संसद का बजट सत्र दिसंबर से पहले शुरू होगा ताकि बजट की प्रक्रिया को साल की समाप्ति तक पूरा किया जा सके। बता दें कि बजट की प्रक्रिया को पूरा करने में करीब दो महीने का वक्त लगता है, ऐसे में इस बात की संभावना जताई जा रही है कि सरकार नवंबर के पहले सप्ताह में आम बजट पेश कर सकती है। फिलहाल देश भर में वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से 31 मार्च तक चलता है, इस व्यवस्था को 1867 में अपनाया गया था। पीएम मोदी की ओर से फाइनैंशल इयर को कैलेंडर इयर के साथ जोड़ने की इच्छा जताए जाने के बाद पिछले साल केंद्र सरकार ने इसकी संभावना तलाशने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया था। पैनल ने दिसंबर में वित्त मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। नीति आयोग ने भी अपने एक नोट में कहा था कि फाइनैंशल इयर में चेंज करने से वर्किंग सीजन का पूरा इस्तेमाल हो सकेगा और साल की शुरुआत के साथ ही विकास कार्य शुरू किए जा सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here