नीतीश का नशाबंदी को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों को सख्त निर्देश, नीचे के पुलिसकर्मी को ढीला मत छोड़िए

0
467

राजधानी पटना में पूर्ण शराबबंदी के बाद आज नशाबंदी को लेकर राज्यस्तरीय बैठक का आयोजन किया गया. जिसमें राज्यभर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया. जानकारी के मुताबिक, नशीली दवाओं के दुरुपयोग और उसके अवैध व्यापार के रोकथाम के लिए बुधवार को सीएम संवाद केंद्र में बैठक का आयोजन हुआ. बैठक में तय हुआ कि बिहार पुलिस अवैध ड्रग्स के खिलाफ सख्त अभियान चलायेगी. इससे पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मादक पदार्थ से संबंधित पुस्तिका का विमोचन किया और नशामुक्ति से संबंधित एसएमएस सेवा की शुरुआत की. मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नीचे के पुलिसकर्मी को ढीला मत छोड़िए, मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी का अभियान फेल नहीं हो सकता. उन्होंने कहा कि चाहे कोई भी हो उसे यदि वह नशा के मामले में पकड़ा जाता है और दोषी है, तो उसे गिरफ्तार करें. उन्होंने कहा कि यह एक सामाजिक अभियान है और अकेले संभव नहीं है, इसलिए इसमें सबके सहयोग की जरूरत है. उन्होंने कहा कि शराबबंदी से राजस्व का नुकसान नहीं हो रहा है. गत वर्ष की तुलना में एक हजार करोड़ का नुकसान हुआ है, वह भी अगले साल समाप्त हो जायेगा. वहीं दूसरी ओर बिहार के डीजीपी पीके ठाकुर ने कहा कि शराबबंदी के बाद नशा मुक्ति पर काम हो रहा है. उन्होंने कहा कि बिहार पर मादक पदार्थ का सबसे ज्यादा खतरा है. इस बैठक में बिहार भर से आये पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.