सूक्ष्म, छोटे, मंझोले व्यापारियों पर जीएसटी का असर पड़ेगा : पी.चिदंबरम

0
372

पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी.चिदंबरम ने शनिवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) सूक्ष्म, छोटे तथा मंझोले व्यापारियों को बुरी तरह प्रभावित करेगा और जिस कानून को लागू किया गया है, वह उस तरह का नहीं है, जिस तरह मूल रूप से इसकी योजना बनाई गई थी. चिदंबरम ने कराईकुडी में संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस जीएसटी के खिलाफ नहीं है, बल्कि जिस तरह इसे लागू किया जा रहा है, उसके खिलाफ है. उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग जीएसटी लागू करने के लिए कुछ समय चाहते था, लेकिन सरकार ने उन्हें वक्त देने से इनकार कर दिया. चिदंबरम ने यह भी कहा कि जीएसटी का प्रभाव मुद्रास्फीति पर पड़ेगा. कांग्रेस ने जीएसटी को लागू करने को लेकर संसद में आधी रात को हुए कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया था. संसद भवन के सेंट्रल हॉल में जीएसटी लॉन्च समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि यह उनके लिए व्यक्तिगत सफलता का दिन है. उन्होंने कहा कि 2011 में वित्त मंत्री रहते हुए उन्होंने सदन में जीएसटी बिल पेश किया था. जीएसटी के इतिहास पर रोशनी डालते हुए उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण दिसंबर, 2002 में शुरू हुई यात्रा का परिणाम है जब अप्रत्यक्ष करों के बारे में गठित केलकर कार्य बल ने मूल्यवर्धित कर सिद्धांत पर आधारित वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) लागू करने का सुझाव दिया था. उन्होंने कहा, ‘जीएसटी की शुरुआत राष्‍ट्र के लिए एक महत्‍वपूर्ण घटना है और यह मेरे लिए भी संतोषजनक लम्‍हा है, क्‍योंकि बतौर वित्‍तमंत्री मैंने ही 22 मार्च, 2011 को संविधान संशोधन विधेयक पेश किया था.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here