CM नीतीश ने कांग्रेस को दिखाया रास्ता, कहा- मैं पीएम पद के लायक नहीं

0
251

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि हमारी पार्टी छोटी है और हम पीएम पद के रेस में कतई शामिल नहीं है। उन्होंने कहा कि हम कभी भ्रम नहीं पालते मेरी पीेएम बनने की कोई इच्छा नहीं है और हमारी पार्टी क्षेत्रीय पार्टी है। हम किसी तरह से 2019 के चुनाव में पीएम पद के उम्मीदवार नहीं हैं।
पहली बार कांग्रेस को सुनाई खरी-खोटी
नीतीश कुमार ने आज पहली बार कांग्रेस पर खुलकर हमला बोला है। नीतीश कुमार ने अपने बयान में कांग्रेस पर आरोप लगाया कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए जदयू को कांग्रेस ने भरोसे में नहीं लिया। नीतीश कुमार का कहना है कि विपक्ष की आज जो स्थिति है उसके लिए कांग्रेस खुद ही जिम्मेदार है।
विपक्षी एकता करनी होगी मजबूत, कांग्रेस करे पहल
यहां यह गौरतलब है कि बिहार में महागठबंधन की सरकार है और कांग्रेस, आरजेडी के साथ इस महागठबंधन में शामिल है। पटना में लोक संवाद कार्यक्रम के बाद आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में नीतीश कुमार ने कहा, ‘क्या विपक्ष की एकता के बिना कांग्रेस संघ मुक्त भारत बना सकती है?’
उन्होंने एक बार फिर विपक्ष की एकता और आगे की रणनीति को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हमने पी. चिदंबरम और राहुल गांधी से कहा है कि कांग्रेस एक बड़ी पार्टी है और वो पहल करें। उन्हें एक एजेंडा तय करना चाहिए। वैकल्पिक राजनीति अभी के वक्त की मांग है।
एकता की बात करने से ही काम नहीं चलता
नीतीश ने कहा कि सिर्फ एकता की बात करने से काम नहीं चलता है। राष्ट्रीय स्तर पर सिर्फ गठबंधन बनाने से कुछ नहीं होगा। हमें अहम मुद्दे पर एकजुटता दिखानी होगी।
जीएसटी के पक्ष में, लांचिंग के लिए न्यौता नहीं मिला था
जीएसटी के मुद्दे पर नीतीश ने कहा कि इस पर तो यूपीए के समय से ही काम हो रहा है। हम पहले से ही उसकी हिमायत करते रहे हैं। एक ही तरह के टैक्स वाली व्यवस्था सही कदम है और इससे टैक्स की चोरी पर लगाम लगाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि जो जनहित में हो, जो देशहित में हो, मैं हमेशा उसका पक्षधर रहा हूं।
उन्होंने यह भी कहा कि वो और उनकी पार्टी जीएसटी के पक्ष में है। वहीं जीएसटी के लॉन्चिंग के कार्यक्रम में शामिल न होने के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें बुलाया ही नहीं गया था। पार्टी के दस सांसदों को न्योता था और वो गए थे। उन्होंने कहा कि जीएसटी एक अच्छी व्यवस्था है और मैंने शुरू से ही इसका समर्थन किया है।
राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनीति सही नहीं
नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर जो राजनीति की जा रही है वो सही नहीं है। राष्ट्रपति चुनाव की राजनीति में किसान का मुद्दा खो गया। किसान के मुद्दे को पीछे नहीं करना चाहिए था। ये एक अहम मुद्दा है। यह भी एक चिंता का विषय है कि जनता से जो वादे किए गए उनका पालन नहीं हो रहा।
सुशील मोदी हैं बयानवीर, मैं ध्यान नहीं देता
नीतीश कुमार ने सुशील मोदी के लालू यादव पर लगाए गए आरोपों पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी आदत है रोज बयानबाजी करने की, मैं उनके किसी भी बयान को गंभीरता से नहीं लेता। ना तो मैं उनके बयान पढ़ता हूं और ना ही मुझे उसमें कोई रूचि है।
लालू की रैली का औपचारिक निमंत्रण मिलेगा तो जाएंगे
पार्टी आरजेडी द्वारा पटना में आयोजित रैली के बारे में जब उनसे पत्रकारों ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि किसी कार्यक्रम में बिना न्यौता के जाना चाहिए क्या? न्यौता मिलेगा जाएंगे। लालू यादव की रैली में शामिल होने के लिए अनौपचारिक निमंत्रण मिला है, औपचारिक निमंत्रण मिलेगा तो जरूर जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here