मोदी-चिनफिंग की मुलाकात का यह सही वक्त नहीं: चीन

0
348

चीन ने गुरुवार को कहा कि जर्मनी के हैम्बर्ग में जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच द्विपक्षीय बातचीत के लिए ‘माहौल सही नहीं है।’ खबरें थीं कि गतिरोध को खत्म करने के लिए दोनों देशों के शीर्ष नेतृत्व के बीच हैम्बर्ग में बैठक हो सकती है। रिपोर्ट्स में यह कहा गया था कि मोदी और चिनफिंग जी20 सम्मेलन के इतर बातचीत करके सिक्किम सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच जारी टकराव को खत्म कर सकते हैं। हैम्बर्ग में शुक्रवार से शुरू हो रहे जी20 शिखर सम्मेलन से पहले चीनी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री मोदी के बीच द्विपक्षीय बातचीत के लिए माहौल सही नहीं है।’ अधिकारी ने उम्मीद जताई कि भारत विवादित सीमा से अपनी सेना पीछे हटाकर तुरंत हालात सामान्य करने की दिशा में कदम उठा सकता है। हालांकि, प्रवक्ता ने यह साफ किया कि शुक्रवार को ब्रिक्स देशों के नेताओं की मीटिंग होगी। इसमें मोदी और चिनफिंग हिस्सा लेने वाले हैं। क्या मोदी और चिनफिंग मिलेंगे, इस सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि सारी जरूरी जानकारी वक्त पर दे दी जाएगी।
गौरतलब है कि दोनों देशों की सेनाओं के बीच सिक्किम सेक्टर में गतिरोध जारी है। चीनी सैनिकों द्वारा सिक्किम सीमा के नजदीक सड़क बनाने की कोशिश किए जाने के बाद चीन और भारत के बीच पिछले 19 दिनों से टकराव चल रहा है। यह विवाद भूटान-चीन-भारत सीमा पर स्थित डोकलाम क्षेत्र में है। इस इलाके का भारतीय नाम डोक ला है जबिक भूटान इसे डोकलाम और चीन इसको डोंगलांग कहता है। इस विवाद की वजह से तनाव चरम पर है। चीनी मामलों के कुछ जानकारों ने तो यह भी आशंका जताई है कि सिक्किम विवाद का हल नहीं निकलने पर चीन सैन्य इस्तेमाल के विकल्प के बारे में भी सोच सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here