बीएनआर होटल टेंडर मामला: लालू बोले, मैंने कुछ गलत नहीं किया, कार्रवाई सियासी

0
50

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव ने कहा कि वह भाजपा की गीदड़ भभकी से डरने वाले नहीं हैं। मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है। यह भी मालूम नहीं कि मामला क्या है। सीबीआई से तुरंत केस भी हो जाता है और छापे भी पड़ने लगते हैं। लालू ने कहा मैंने जो भी किया वह कानून के दायरे में किया। उन्होंने कहा, मैंने कुछ गलत नहीं किया, कार्रवाई सियासी साजिश है।
रांची सीबीआई कोर्ट से बाहर निकलते ही यादव ने कहा कि भाजपा और आरएसएस वाले हमें झुकाना चाहते हैं इसलिए छापेमारी की गई है। मोदी सरकार पटना में 27 को होने वाली आरजेडी की रैली को फ्लॉप करना चाहती है, इसलिए सीबीआई के माध्यम से लगातार हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह हर उस आदमी पर हमला करवा रहे हैं जो गरीबों की बात करता है या उनका विरोध करता है। लालू ने कहा कि मैं सीबीआई से डरने वाला नहीं हूं। आधी जिदंगी मेरी इनसे लड़ते हुए ही बीती है। सीबीआई जहां बुलाएगी वहां मैं उपलब्ध हो जाऊंगा। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी एक स्वतंत्र एजेंसी है। उसके अधिकारी को बोला है कि एफआईआर दर्ज कराओ। मैं बताना चाहता हूं हम भाजपा और मोदी को हटा कर दम लेंगे। किसी का भी अहंकार सफल नहीं हुआ। राजद प्रमुख ने कहा, इसी निर्णय के तहत 2006 में कुछ होटलों को, जो बुरी हालत में थे, उनके लिए अोपन टेंडर किया गया। इन होटलों को डेवलप करने के लिए आईआरसीटीसी ने 15 साल के लीज पर दिया है। इन होटलों की जो आमदनी होगी, उसमें से लाइसेंस फीस देनी होगी। होटल नहीं चला पाने पर आईआरसीटीसी इसे वापस ले लेगा। टाटा ने भी ओपन टेंडर के आधार पर आईआरसीटीसी से चलाने के लिए होटल लिया है। लालू प्रसाद ने बताया कि आईआरसीटीसी को लाइसेंस फीस के रूप में एक करोड़ रुपए मिल रहे हैं। शेष बातें एग्रीमेंट में हो, वो अलग है। हमारे खिलाफ रेल मंत्री के रूप में कोई गड़बड़ी बता दे तो लालू यादव को जो सजा होगी कबूल करेगा। पूर्व रेल मंत्री ने कहा कि अभी रेलवे में जितना के़टरिंग हो रहा है, वो प्राइवेट लोगों को दे दिया गया है। ये लोग रेलवे का निजीकरण करने जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here