तेजस्वी व तेजप्रताप को बरखास्त करें सीएम : मोदी

0
543

पटना : पूर्व उपमुख्यमंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि लालू परिवार पर सीबीआइ छापे के बाद अब तो मुख्यमंत्री को चुप्पी तोड़नी चाहिए. उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के घर पर भी सीबीआइ का रेड हुआ उन पर एफआइआर हुई है. सीबीआइ ने उनसे पूछताछ की है.

अब भी अगर तेजस्वी प्रसाद यादव और तेज प्रताप यादव इस्तीफा नहीं देते हैं, तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उन्हें बरखास्त कर देना चाहिए. मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि बिहार में कोई भ्रष्टाचारी नहीं रहेंगे. मोदी शुक्रवार को लालू प्रसाद के घर पर सीबीआइ के छापे के बाद भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बात कर रहे थे. उनके साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर यादव भी मौजूद थे. मोदी ने कहा कि उन्होंने जो भी आरोप लगाये हैं वह कोइ नया नहीं है. 12 अगस्त, 2008 को जदयू के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह तथा राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस कर आरोप लगाये थे.

अब भले ही शिवानंद तिवारी ने पाला बदल लिया है. 2008 में ही जदयू ने छह सौ पेज का दस्तावेज भी पीएमओ को सौंपा था. प्रेस कांफ्रेंस में मोदी ने 2008 के संवाददाता सम्मेलन का अंश भी पढ़कर सुनाया, जिसमें शिवानंद तिवारी ने लालू प्रसाद को आदतन अपराधी बताया था. तब और आज में सिर्फ इतना ही अंतर है कि डिलाइट मार्केटिंग का नाम अब लारा प्रोजक्ट एलएलपी हो गया है. 2008-09 में डिलाइट मार्केटिंग का शेयर प्रेमचंद गुप्ता व उनके परिजनों के पास था. 2014-15 के बाद शेयर राबड़ी और तेजस्वी के नाम हो गया.

मोदी ने अपने आरोपों को दोहराते हुए कहा कि रेलवे के दो होटल के एवज में हर्ष कोचर से दो एकड़ जमीन ली गयी. आज इसी जमीन पर बिहार का सबसे बड़ा मॉल 7.60 लाख वर्गफुट में बन रहा है. सरकार ने भी हाइकोर्ट में स्वीकार किया कि मॉल का निर्माण गलत तरीके से हो रहा है. उन्होंने कहा कि सीबीआइ कार्रवाई की जानकारी उन्हें मीडिया के माध्यम से मिली. एक प्रश्न के उत्तर में मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने रांची में अपनी पीसी में जमीन के मामले में चुप्पी साध ली.

उन्होंने कहा कि राजद के नेता तथ्य पर बात करें. केस पर बात करें. जिस समय लालू प्रसाद जेल गये थे उस समय केंद्र में जनता दल की सरकार थी. बहस केस के मेरिट पर हो न कि इधर-उधर की बात पर. उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद बिहार के लोगों को यह फंडा बताएं कि कैसे चार लाख की पूंजी लगा कर तेजस्वी इतने कम समय में करोड़ों के मालिक हो गये. भाजपा नेता नंदकिशोर यादव ने कहा कि पहले भी सीबीआइ की कार्रवाई सही थी आज भी सही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.