टूट की कगार पर महागठबंधन! राजद-जदयू के बीच सियासी जंग जारी

0
383

ऐसा लग रहा है कि बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी पर सीबीआई की एफआईआर के बाद बिहार की सियासत में जो भूचाल आया है, उसका अब सियासी काउंटडाउन शुरू हो चुका है। उसकी वजह है तेजस्वी मामले पर महागठबंधन के दोनों दलों की तरफ से अपने स्टैंड पर अड़े रहना। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जेडीयू ने जहां एक तरफ मोरल प्रेशर बनाया तो वहीं लालू यादव के छोटे बेटे ने भावुकता के साथ सफाई देते हुए साफ कर दिया कि वह जब ईमानदार हैं तो फिर इस्तीफा क्यों? ऐसे में सवाल ये उठता है कि चार दिन की जो मोहलत नीतीश ने आरजेडी को दी है, उसके खत्म होने के बाद जेडीयू क्या फैसला लेगी? क्या टूट जाएगा बिहार का महाठबंधन? बताएंगे आपको इस बारे में कि आखिर क्या है राजनीतिक विश्लेषकों की राय। लेकिन आइए सबसे पहले बताते हैं कि किसने क्या कहा और तेजस्वी क्यों हुए आग बबूला।
जेडीयू की दो टूक- भ्रष्टाचार पर कोई समझौता नहीं
रेलवे टेंडर घोटाले में लालू यादव के घर सीबीआई और राबड़ी-तेजस्वी से घंटों सीबीआई की पूछताछ के बाद जेडीयू ने साफ कर दिया है कि वह किसी भी कीमत पर भ्रष्टाचार से समझौता नहीं करेगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ नीतीश कुमार की एक खास छवि है, इसी छवि के चलते महागठबंधन ने भाजपा के विजय रथ को बिहार में रोका था। ऐसे में नीतीश की छवि पर किसी तरह का दाग पार्टी बर्दास्त करने के मूड में नहीं है। इस बारे में जेडीयू के महासचिव ने भी साफ कर दिया है कि नीतीश की छवि को कमजोर करने की कोशिश नहीं होनी चाहिए। राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि अगर नीतीश पर उंगली उठी तो देश में भाजपा की राह आसान हो जाएगी।
भाजपा जितना भी षड्यंत्र रच ले, हमारी तरफ से नहीं होगी कोई गलती : लालू
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने आज एक बार फिर दुहराया कि बिहार में गठबंधन मजबूत है और जारी रहेगा। भाजपा पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि उनका एक ही काम बचा है, वो बिहार की सरकार को गिराने का षडयंत्र कर रही है। रांची में आज चारा घोटाला मामले में कोर्ट में उनकी पेशी है। रांची में ही उन्होंने कहा कि भाजपा कितना भी षड्यंत्र कर ले, हमारी ओर से कोई गलती नहीं होने वाली है। भाजपा देश को टुकड़े-टुकड़े में बांटना चाहती है। भाजपा ने हमारे बेटा, बेटी को फंसाया। तेजस्वी तो बच्चा था। उस समय क्रिकेट खेलता था। उसे फंसाया गया है। राजद जनता के बीच जाएगी और भाजपा की करतूतों को उजागर करेगी। बिहार की जनता ने राजद-जदयू को सरकार चलाने का जनादेश दिया है, जिसे अस्थिर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार के राजनीतिक हालात पर समय आने पर निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी 27 अगस्त को पटना में रैली कर रही है, जिसमें भाजपा के षडयंत्र को उजागर किया जाएगा। उनके लोग जनता के बीच जा रहे हैं। उन्हें सीबीआई की अदालत में नहीं बुलाया जाता तो वे भी जनता के बीच रहते। रमई राम ने भ्रम फैलाया: नीतीश कुमार द्वारा तेजस्वी यादव को अपने को निर्दोष साबित करने के लिए चार दिन के अल्टीमेटम पर लालू ने कहा, ऐसा कोई समय नहीं दिया गया है। दरअसल, नीतीश कुमार ने रमई राम से कहा था, चार बजे प्रेस कान्फ्रेंस करेंगे। रमई राम कमरे से बाहर निकल कर आए और मीडिया से कह दिया कि तेजस्वी यादव को चार दिन का समय दिया गया है। राजद प्रमुख ने कहा, राष्ट्रपति का चुनाव हो रहा है। इधर गवाही के लिए बार-बार रांची आना पड़ रहा है। हम कोर्ट का आदर करते हैं। जनता मालिक है। कौन गलत कर रहा है और कौन सही, जनता जवाब देगी। लालू ने कहा कि देश में बड़े-बड़े घोटाले हो रहे हैं। भाजपा के कई मंत्राी चार्जशीटेड है। उनके खिलापफ क्यों नहीं कार्रवाई हो रही है। कोई किसी के खिलाफ एफआईआर कर देगा और वह दोषी हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here