तेजस्वी खुद को बेदाग साबित करें, नीतीश की छवि बिगड़ी तो गठबंधन का कोई अर्थ नहीं : जेडीयू

0
347

बिहार में लालू प्रसाद के ठिकानों पर छापेमारी और उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव के खिलाफ सीबीआई केस दर्ज होने के बाद सत्‍तारूढ़ महागठबंधन के बीच जारी गतिरोध पर बोलते हुए जदयू के महासचिव केसी त्‍यागी ने कहा है कि इस वक्‍त बिहार में गठबंधन की अग्नि परीक्षा का वक्‍त है. तेजस्‍वी को अपने आप को पाक साफ साबित करना चाहिए. अपने खिलाफ लगे आरोपों (सीबीआई केस) से उनको बेदाग निकलकर आना चाहिए. उन्‍होंने कहा है कि इस मामले में उनकी धारणा अलग है और हमारी राय भिन्‍न है. उन्‍होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार की छवि सुशासन की है. अगर उस पर छवि खरोंच या दाग लगता है तो फिर ना तो गठबंधन चलाने का कोई औचित्‍य रहेगा और ना ही बिहार में सरकार के प्रति कोई सम्‍मान रहेगा. उल्‍लेखनीय है कि बिहार के मुख्यमंत्रीनीतीश कुमार ने तेजस्‍वी यादव को खुद को पाक साफ साबित करने के लिए अल्‍टीमेटम दिया है. मंगलवार को अपनी चुप्पी तोड़ते हुए साफ किया कि वे सहयोगी लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव से क्या चाहते हैं. तेजस्वी यादव बिहार सरकार में नंबर दो की हैसियत रखते हैं. पार्टी नेताओं की बैठक के बाद जेडीयू पार्टी के प्रवक्ता नीरज कुमार ने सीएम नीतीश कुमार की मंशा को सामने रखते हुए कहा, “जो लोग भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं, उन्हें जनता का सामना करना चाहिए और अपने आपको बेदाग साबित करना चाहिए. हमें भरोसा है कि वे ऐसा करेंगे.” जदयू के अल्‍टीमेटम के बाद पहली बार अपनी चुप्‍पी तोड़ते हुए राजद नेता और उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव ने बुधवार को कहा है कि मुझ पर एफआईआर राजनीतिक साजिश है. ये महागठबंधन को तोड़ने की कोशिश है. मुझे पिछड़ा होने की सजा दी जा रही है. लालू यादव के परिवार पर छापेमारी के बाद पहली राज्‍य सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में हिस्‍सा लेने पहुंचे तेजस्‍वी यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये 28 साल के नौजवान से डरते हैं और सवालिया लहजे में पूछा कि जिन आरोपों की बात विपक्ष कह रहा है तब उनकी उम्र 13-14 साल की थी. ऐसे में क्‍या 13-14 साल की उम्र में घोटाला करेंगे. उन्‍होंने कहा कि उनकी पार्टी इस मुद्दे पर नहीं झुकेगी और जरूरत पड़ने पर जनता के बीच जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here