गुजरात: बर्थडे पर आज कांग्रेस से इस्तीफा दे सकते हैं शंकर सिंह वाघेला, अगले कदम पर अटकलें तेज़

0
370

अहमदाबाद: गुजरात के बड़े नेता और सूबे के पूर्व सीएम शंकर सिंह वाघेला आज कांग्रेस से इस्तीफा दे सकते हैं. वाघेला गांधीनगर में अपने समर्थकों का आज एक बड़ा सम्मेलन करने जा रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक वो इस सम्मेलन में राजनीति से संन्यास लेने का एलान कर सकते हैं. वाघेला कल दिल्ली में एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल से भी मिल चुके हैं. हालांकि उनकी इस मुलाकात के मायने अब तक साफ नहीं हैं.

गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता शंकर सिंह के नए कदम से कई सवाल उठ रहे हैं. सवाल पूछा जा रहा है ति वाघेला का अगला कदम क्या होगा? क्या वह कांग्रेस पार्टी छोड़ देंगे? या क्या वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे? या फिर वो किसी और दल का दामन थाम लेंगे?

वाघेला के अगले कदम पर जो भी सवाल हो, लेकिन एक बात साफ है कि उनके संभावित नए फैसले से कांग्रेस का भारी नुकसान हो सकता है.

NCP-JDU विधायकों को भी दिया न्योता

वाघेला आज अपने जन्मदिन पर सम-संवेदना समारंभ के नाम से एक बड़ा आयोजन करने जा रहे हैं. वाघेला ने इस सम्मेलन में कांग्रेस के सभी विधायकों के अलावा एनसीपी के दो और जेडीयू के एक विधायक को भी न्योता दिया है. लेकिन उन्होंने ये खुलासा नहीं किया कि इस समारोह में वो क्या एलान करने वाले हैं.

शंकर सिंह वाघेला ने नहीं किया कोई खुलासा

शंकर सिंह वाघेला ने कहा, ‘’आप पूछना चाहते होंगे कि मैं वहां क्या बोलूंगा. लेकिन ये बात मैं सही वक्त आने से पहले नहीं बताऊंगा. जैसे नरेन्द्र मोदी ने मेरे कान में क्या कहा, अगर ये सबको बताना होता तो सार्वजनिक तौर पर नहीं कहते? कान में कहने का मतलब ही है कि वो बात सबको बताने की नहीं है. इसी तरह सम्मेलन में मुझे जो कहना है वो उसी समय बताऊंगा.’’

कांग्रेस से नाराज हैं वाघेला

वाघेला पहले से ही कांग्रेस नाराज हैं. 15 दिन पहले उन्होने गांधीनगर में एक सम्मेलन किया था, जिसमें कांग्रेस के खिलाफ जमकर बयानबाजी की थी. आज के सम्मेलन में अगर उन्होंने संन्यास का एलान कर दिया तो दिसंबर में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए बड़ा झटका होगा.

गुजरात में बढ़ेगी कांग्रेस की मुश्किल

कयास ये भी हैं कि वाघेला के संन्यास लेने पर कुछ कांग्रेस विधायक भी उनके समर्थन में पार्टी छोड़ सकते हैं. राष्ट्रपति चुनाव में गुजरात कांग्रेस के कुछ विधायकों ने रामनाथ कोविंद को वोट दिया है. अगले महीने गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने है. इनमें एक सीट कांग्रेस कोटे की है. कांग्रेस को जीत के लिए 47 विधायकों का समर्थन चाहिए. राज्य में पार्टी के 57 विधायक हैं, लेकिन वाघेला समर्थक विधायकों ने साथ छोड़ा तो कांग्रेस के लिए एक नई परेशानी खड़ी हो सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here