मोदी के डिनर में शामिल होंगे नीतीश कुमार, राहुल से की मुलाकात

0
291

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का टेन्योर 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। इसके लिए नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रणब के सम्मान में डिनर रखा। इस डिनर में नीतीश कुमार शामिल होंगे। इससे पहले नीतीश ने राहुल गांधी से मुलाकात की। हालांकि, अपोजिशन पार्टीज के बाकी सीएम ने इस प्रोग्राम से दूरी रखी है। बता दें कि देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को पदभार संभालेंगे। उन्होंने हाल में हुए चुनाव में यूपीए कैंडिडेट मीरा कुमार को हराया है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष से मिले नीतीश कुमार
बिहार में महागठबंधन पर चल रहे झगड़े को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के दिल्ली स्थित आवास पर मिलने पहुंचे. खबरों के मुताबिक इस दौरान दोनों नेताओं के बीच तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर बातचीत भी हुई. इस मुलाकात के बाद ये चर्चा तेज हो गई है कि क्या राहुल गांधी तेजस्वी को इस्तीफे के लिए मना पाएंगे? बिहार में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर महागठबंधन में चल रही खींचतान के बीच सीएम नीतीश कुमार दिल्ली में राहुल गांधी से मिले. माना जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच महागठबंधन पर आए संकट को लेकर बातचीत हुई.
हैदराबाद हाउस में होगा डिनर
नरेंद्र मोदी ने डिनर हैदराबाद हाउस में रखा है। इस डिनर में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, मोदी कैबिनेट के मंत्री और एनडीए के सहयोगी दलों के नेता भी शामिल होंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक, इस डिनर के लिए देश के सभी सीएम को इनवाइट किया गया था। शुक्रवार शाम को ज्यादातर सीएम ने आने से मना कर दिया। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, कुछ सीएम ने कहा कि उन्हें इनविटेशन नहीं मिला। वहीं, केरल के सीएम पी विजयन ने बताया कि वे इस डिनर में शामिल नहीं होंगे। हालांकि वे पार्टी की मीटिंग में दिल्ली जरूर आ रहे हैं। नीतीश के अलावा जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू भी डिनर में शामिल हो सकते हैं। दोनों पार्टियां ही एनडीए में बीजेपी की सहयोगी हैं।
25 जुलाई को पद संभालेंगे कोविंद
प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। नए राष्ट्रपति कोविंद 25 जुलाई को पद संभालेंगे। उसी दिन प्रणब का फेयरवेल संसद के सेंट्रल हॉल में होगा। स्पीकर सुमित्रा महाजन स्पीच देंगी। वे प्रणब को एक स्मृति चिह्न और सभी सांसदों के सिग्नेचर वाली बुक देंगी। इसके बाद हाई-टी होगी। रिटायरमेंट के बाद प्रणब उसी बंगले में शिफ्ट होंगे, जहां पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम रहते थे। बताया जाता है कि प्रणब रिटायरमेंट के बाद अपनी ऑटोबायोग्राफी का तीसरा पार्ट लिखना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here