र‍िलायंस ज‍ियो के जर‍िए यूं ही मुफ्त में फोन और डेटा नहीं दे रहे मुकेश अंबानी

0
362

रिलायंस जियो के आने के बाद टेलीकॉम मार्केट में तहलका मच गया है। कई महीनों तक फ्री डेटा और अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग की स्कीम के बाद हाल ही में कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने जियो 4जी फीचर फोन लॉन्च किया, जिसमें अनलिमेटेड कॉलिंग का अॉप्शन है। जबकि सस्ती दरों पर यूजर्स इसमें इंटरनेट रिचार्ज करा सकते हैं। यह फोन एक तरह से फ्री ही माना जा रहा है, क्योंकि यूजर्स को बतौर सिक्योरिटी मनी 1500 रुपये देने हैं और वह उन्हें 3 साल बाद वह रिफंड कर दिए जाएंगे। लेकिन सवाल उठता है कि इतने बड़े बिजनेसमैन होकर मुकेश अंबानी मुफ्त में 4जी डेटा क्यों दे रहे हैं? रिलायंस जियो की स्ट्रैटजी क्या है? अगर रिलायंस जियो के लोगो की मिरर इमेज देखी जाए तो OIL लिखा नजर आएगा। कुछ महीनों पहले नैसकॉम की कॉन्फ्रेंस में मुकेश अंबानी ने मोबाइल डेटा को नया अॉयल बताया था। अंबानी ने कहा था, डेटा एक नया प्राकृतिक संपदा है। हम उस सदी की शुरुआत में हैं, जहां डेटा एक नया अॉयल है। ईटी की रिपोर्ट के मुताबिक अंबानी को दो-तिहाई असंबद्ध भारत की बाजार क्षमता का अहसास हो गया है। उनके नए 4जी फीचर फोन के लॉन्च से साफ है कि वह देश के मोबाइल फोन मार्केट पर कब्जा करना चाहते हैं। आईसीई 360 डिग्री के मुताबिक रिसर्च सेंटर प्राइज ने पिछले साल एक सर्वे कराया था, जिसमें पता चला था कि 90 प्रतिशत घरेलू भारतीयों के पास मोबाइल फोन हैं, लेकिन सिर्फ 10 प्रतिशत ही इंटरनेट चला पाते हैं। यह दिखाता है कि भारत में स्मार्टफोन की पैंठ अन्य विकसित देशों जैसे चीन, ब्राजील, नाइजीरिया और इंडोनेशिया से भी कम है। वहीं जिन लोगों की इंटरनेट तक पहुंच है, वह भी सिर्फ मोबाइल के जरिए है। इस जानकारी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अंबानी ने क्यों डेटा को नया अॉयल कहा था। करोड़ों लोग जो रिलायंस जियो के इंटरनेट से जुड़े हैं, वह सिर्फ टेलीकॉम उपभोक्ता नहीं हैं। वह एंटरनेटमेंट, न्यूज और अन्य प्रॉडक्ट्स का भी इस्तेमाल करते हैं। अगर फ्री फोन के जरिए अंबानी इतने बड़े मार्केट को कब्जाने में कामयाब हो जाते हैं, तो यह एक नए तरह के तेल खादान को कब्जाने जैसा होगा, जिसका इस्तेमाल वह दशकों तक करके रिलायंस इंडस्ट्रीज से भी बड़ा साम्राज्य स्थापित कर सकते हैं। मोबाइल फोन कंपनियों की संस्था इंडियन सेल्युलर असोसिएशन ने इसे एक विघटनकारी कदम बताया है जो देश में 4जी टेक्नॉलजी का विस्तार करेगा। आईसीएएन के प्रेसिडेंट पंकज मोहिंद्रू ने ईटी को बताया, डिजिटल डेटा रेवॉल्यूशन में एंट्री पाने वाले उपभोक्ताओं के लिए यह शानदार पैकेज है। यह पैकेज 4 जी नेटवर्क को अधिक से अधिक इलाकों में फैलाने में सक्षम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here