एनडीए के दो घटक दलों को नीतीश मंत्रिमंडल में नहीं मिली जगह

0
43

बिहार में एनडीए की नई सरकार का गठन हो चुका है। आज मंत्रिमंडल का विस्तार किया जा रहा है। शाम साढ़े पांच बजे नीतीश कुमार की नई कैबिनेट के मंत्री शपथ ग्रहण करेंगे। राजभवन में बिहार के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी एनडीए खेमे के मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। यह पहली बार हुआ है जब बिहार में एडीए के कुनबे में पांच दल जदयू, भाजपा, लोजपा, रालोसपा और हम शामिल हैं। इससे पहले एनडीए का कुनबा इतना बड़ा नहीं रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, नीतीश सरकार की नई कैबिनेट में जदयू और भाजपा के अलावा लोजपा के कोटे से मंत्री पद का चुनाव हुआ है, जिन्हें आज शपथ दिलाई जाएगी। जानकारी के मुताबिक एनडीए कोटे से 16 जबकि जेडीयू कोटे से 19 लोगों कों मंत्री बनाया जाना है। कुल 35 मंत्रियों को शपथ दिलायी जाएगी। जब कोई कुनबा काफी बड़ा हो जाता है तो कुर्सी के लिए थोड़ी बहुत खिचखिच भी होती ही है। कुछ नाराज होते हैं, तो किसी को मनाने का भी सिलसिला चलता है। आज एनडीए सरकार के मंत्रिमंडल में दो घटक दलों हिन्‍दुस्‍तानी आवाम मोर्चा और रालोसपा को जगह नहीं मिली है। हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष का कहना है कि जब लोजपा के ऐसे नेता को मंत्रिमंडल में जगह दी जा रही है, जो फिलहाल विधानमंडल के सदस्‍य ही नहीं हैं, तो फिर हमारे पार्टी के भी वैसे लोगों को भी जगह दी जाये। सुबह में बताया जा रहा था कि जीतनराम मांझी को मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए सहयोगी दलों के नेताओं ने राजी कर लिया है, लेकिन दोपहर के बाद यह तय हो गया कि हम पार्टी से किसी नेता को भी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया जा रहा है। बात रालोसपा की करें तो, एनडीए के घटक दल होने के कारण पार्टी के एक सांसद को केंद्रीय मंत्रिमंडल में तो जगह मिली हुई है, लेकिन बिहार में बनी नयी सरकार में किसी नेता को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है। रालोसपा विधायक सुधांशु शेखर को मंत्री बनाये जाने की चर्चा थी। लेकिन अंतिम समय में उनका नाम सूची से हट गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here