गायब हो रहे 2000 के नोट, कहीं फिर तो नहीं बन गए ‘कालाधन’

0
71

ग्वालियर। 500 और 1000 रुपए के नोट बंद कर कालेधन पर रोक लगाने बड़े जोर-शोर के साथ 2000 का नया नोट लाया गया था, लेकिन अब बाजार से 2 हजार के नोट नदारद हो रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से 2 हजार के नोटों की कमी बाजार में देखने को मिल रही है। बाजार ही नहीं बैंकों में भी 2 हजार के नोटों की कमी सामने आ रही है। इसके पीछे दो कारण बताए जा रहे हैं। एक तो यह कि 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद अब लोगों ने 2000 रुपए के नोट जमा करना शुरू कर दिए हैं।

दूसरा कारण यह कि आरबीआई ने भी 2000 रुपए के नोटों की सप्लाई कम करते हुए 500 और 100 रुपए के नोटों की सप्लाई बढ़ा दी है। इसके चलते भी 2000 रुपए के नोट बाजार से गायब दिख रहे हैं। 2000 के नोट नदारद होने से सबसे ज्यादा परेशानी व्यापारियों को हो रही है, क्योंकि जब से 2000 के नोटों की आवक कम हुई तब से 500, 100 के अलावा 10 और 20 के नोटों की आवक अधिक हो गई है।

व्यापारियों के पास जो भुगतान आ रहा है, उसमें 40 प्रतिशत तक 10 और 20 रुपए के नोट आ रहे हैं। ऐसे में व्यापारियों को इन रुपयों को जमा करने में परेशानी हो रही है क्योंकि बड़े नोट जेब में भी रखकर बैंक तक ले जा सकते हैं लेकिन छोटे नोटों की संख्या अधिक होने के कारण व्यापारियों को पैसा बैंक तक ले जाने में काफी परेशानी होती है। सबसे बड़ा खतरा सुरक्षा का रहता है।

एटीएम से भी निकल रहे 500, 100 के ही नोट

बैंकों के एटीएम में भी पिछले कुछ दिनों से 500, 100 के नोट ही उपलब्ध हैं। हर बैंक के एटीएम से 2000 के नोट काफी कम संख्या में निकल रहे हैं। वहीं बैंकों के कैश काउंटर पर भी 2000 रुपए के नोट नहीं मिल रहे हैं। यहां 500, 100 रुपए के नोटों के अलावा 10 और 20 रुपए के नोटों के रूप में अधिक भुगतान हो रहा है।

बाजार से नोट नदारद होने के यह कारण

– बैंकों में 2000 रुपए के नोटों की कमी के पीछे बैंक अधिकारियों का कहना है कि आरबीआई ने ही पिछले एक महीने से 2000 के नोट की सप्लाई कम कर दी है। जो भी डिमांड भेज रहे हैं, उसके हिसाब से जो पैसा आरबीआई से आ रहा है उसमें 500,100 और छोटे नोटों की सप्लाई हो रही है। इसके कारण बाजार में नए 2000 के नोट नहीं आ पा रहे। यही कारण है कि 2000 के नोटों की कमी दिख रही है। आरबीआई से 2000 के नोटों की कम सप्लाई के पीछे 200 रुपए के नए नोटों के आने की संभावना को भी बताया जा रहा है। ऐसी चर्चा है कि जल्द ही आरबीआई 200 रुपए का नोट लाने वाला है, जिसके चलते आरबीआई से 2000 के नोट कम आ रहे हैं

– बाजार में नए 2000 रुपए के नोटों की कमी होने पर बाजार में चर्चा है कि जिस तरह 500, 1000 के नोटों को कालेधन के रूप में जमा किया था। उनके बंद होने के बाद अब लोग 2000 के नोट जमा कर रहे हैं, इसके कारण अभी तक जो करंसी आई थी वह भी बाजार से नदारद दिख रही है

आंकड़ों पर एक नजर

– बैंक अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार हर सप्ताह आरबीआई को डिमांड भेजी जाती है। लगभग 50 करोड़ की नई करंसी हर सप्ताह आती है। करीब 30 करोड़ की नई करंसी तो सिर्फ एसबीआई की चेस्ट में ही आती है

– पिछले एक महीने से आरबीआई से जो नई करंसी की सप्लाई हो रही है, उसमें 500 और 100 रुपए के नोट ही आ रहे हैं। इसके साथ ही 10 और 20 के नोट भी काफी संख्या में आ रहे हैं

हमारे पास 2000 रुपए के नोट के रूप में भुगतान हो ही नहीं रहा। 500 और 100 रुपए के नोट से भी ज्यादा 10 और 20 रुपए के नोट आ रहे हैं। इससे हम लोगों को परेशानी हो रही है। बैंक से भी 2000 रुपए के नोट नहीं मिल रहे हैं। मनीष बांदिल, अध्यक्ष शक्कर एसोसियेशन

2000 रुपए के नोट की सप्लाई आरबीआई से ही कम हो रही है। पिछले एक महीने से यह स्थिति है। इसलिए बैंकों में 2000 रुपए के नोटों की कमी है। वहीं से 500, 100 रुपए के नोट अधिक आ रहे हैं। अवधेश सक्सैना, क्षेत्रीय प्रबंधक एसबीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here