भारत ने पहला टेस्ट 304 रनों से जीता, सीरीज में 1-0 की बढ़त

0
378

भारत ने श्रीलंका को पहले टेस्ट मैच के चौथे ही दिन 304 रनों से हरा दिया। भारत ने इसी के साथ तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई। 550 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका की दूसरी पारी 76.5 अोवरों में 245 रनों पर सिमट गई। वास्तव में दूसरी पारी में श्रीलंका के 8 विकेट ही हुए और गुणरत्ने तथा कप्तान रंगना हैराथ चोट के चलते बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे। इससे पहले सुबह भारत ने विराट कोहली के शतक की मदद से दूसरी पारी 3 विकेट पर 240 रन बनाकर घोषित की थी।
शमी- उमेश ने लंका को दिए शुरुआती झटके
मोहम्मद शमी ने उपुल थरंगा (10) को बोल्ड कर श्रीलंका को पहला झटका दिया। इससे दो गेंद पहले ही शमी की गेंद पर थरंगा का विराट कोहली ने दूसरी स्लिप में कैच छोड़ दिया था, लेकिन थरंगा इस जीवनदान का कोई फायदा नहीं उठा सके। इसके बाद उमेश यादव ने 02 रन पर खेल रहे गुणतिलका को पुजारा के हाथों कैच आउट करा कर भारत को दूसरी सफलता दिला दी। इसके बाद जडेजा ने मेंडिस (36) को रिद्धिमान साहा के हाथों कैच करवाया। अंपायर ने मेंडिस को नॉट आउट करार दिया था, लेकिन कोहली ने जडेजा के कहने पर रिव्यू लिया और फैसला भारत के हक में हुआ। इसके बाद जडेजा ने अपने अगले ही ओवर में 2 रन पर खेल रहे श्रीलंका के सबसे अनुभवी बल्लेबाज़ एंजेलो मैथ्यूज़ को अपनी फिरकी के जाल में फंसाकर हार्दिक पांड्या के हाथों कैच आउट करा दिया। 116/4 की विषम स्थिति में करुणारत्ने को निरोशन डिकवेला का साथ मिला और दोनों ने पारी को कुछ हद तक संभालते हुए ‍शतकीय भागीदारी की। इन्होंने पांचवें विकेट के लिए 101 रन जोड़े। इस साझेदारी को रविचंद्रन अश्विन ने तोड़ा जब उन्होंने डिकवेला को 67 के निजी स्कोर पर विकेटकीपर साहा के हाथोंं झिलवाया। एक समय श्रीलंका ने 5 विकेट पर 240 रन बना लिए थे, लेकिन इसके बाद अगले 5 रनों में उसके 3 विकेट गिरे। करुणारत्ने मात्र 3 रनों से शतक चूके और 97 के निजी स्कोर पर अश्विन की गेंद पर बोल्ड हुए। अश्विन ने इसी अोवर में नुवान प्रदीप को विराट के हाथों झिलवाया तो जडेजा ने लाहिरू कुमारा को आउट कर श्रीलंकाई पारी को समेट दिया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि चोट के कारण गुणरत्ने और कप्तान रंगना हैराथ बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे। अश्विन ने 65 रनों पर 3 और जडेजा ने 71 रनों पर 3 विकेट लिए।
श्रीलंका को चौथी पारी में मिला एवरेस्ट सा लक्ष्य
इससे पहले, भारत ने दूसरी पारी में 3 विकेट पर 239 रन बनाकर पारी घोषित की। इस तरह भारत की कुल बढ़त 549 रनों की हुई। श्रीलंका को जीत के लिए चौथी पारी में 550 रनों का लक्ष्य मिला है, जबकि उसके पास केवल 10 बल्लेबाज हैं। असेला गुणारत्ने अंगूठे की चोट के कारण इस मैच के साथ ही पूरी सीरीज से बाहर हो गए हैं।
कोहली-रहाणे ने की धुआंधार बल्लेबाजी
इससे पहले, तेजी से खेलते विराट कोहली ने दूसरे दिन की शुरुआत में ही अपने टेस्ट करियर का 17वां शतक पूरा कर लिया। कोहली और रहाणे के बीच अर्धशतकीय साझेदारी हुई। कोहली 103 और रहाणे 23 रन बनाकर नाबाद रहे। भारतीय पारी की तेजी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अंतिम 10 ओवरों में भारत ने 64 रन बनाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here