1991 के सीताराम मर्डर केस को लेकर RJD ने नीतीश कुमार को घेरा

0
88

बिहार की सियासत में रातोंरात हुए बड़े उलटफेर के बाद आरजेडी लगातार सीएम नीतीश कुमार पर लगातार हमलावर है। सोमवार को आरजेडी ने 1991 के सीताराम मर्डर केस का मुद्दा उठाते हुए नीतीश पर हमला बोला। आरजेडी मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस केस के पीड़ित पक्ष का एक विडियो टेप दिखाकर आरजेडी नेताओं ने कहा कि नीतीश की बड़े अपराधियों से सांठगांठ है और हत्या के आरोपी को सीएम के पद पर रहने का हक नहीं है। गौरतलब है कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी महागठबंधन टूटने के दिन इसी केस का हवाला देते हुए नीतीश को घेरा था। आरजेडी नेता जगन्नाथ सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘नीतीश कुमार दफा 302 के तहत मर्डर केस और आर्म्स ऐक्ट में आरोपी हैं।’ उन्होंने कहा कि हत्या के आरोपी को पद पर रहने का कोई हक नहीं है। इस केस में पीड़ित परिवार आज भी न्याय का इंतजार कर रहा है। इसके पहले आरजेडी के ट्विटर हैंडल से इस संबंध में किए गए ट्वीट में दावा किया गया था कि नीतीश को लेकर विस्फोटक खुलासा किया जाएगा। इस ट्वीट के बाद अटकलों का बाजार गर्म हो गया था। ट्वीट में कहा गया था कि इस खुलासे के बाद नीतीश की अतंरात्मा फिर बोल उठेगी। इस बीच सीएम नीतीश कुमार का भी दोपहर 4 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं। माना जा रहा है कि वह अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरजेडी के आरोपों का जवाब दे सकते हैं। इसके पहले नीतीश यह कह चुके हैं कि वह वक्त आने पर लालू यादव के आरोपों का जवाब देंगे। विधानसभा में बहुमत हासिल करने के बाद दिए अपने भाषण में भी उन्होंने लालू पर जमकर निशाना साधा था। नीतीश ने कहा था कि जनादेश संपत्ति अर्जित करने के लिए नहीं मिला था। बताया जा रहा है कि आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश लालू के तमाम आरोपों का जवाब देने के साथ-साथ कोई ‘खुलासा’ भी कर सकते हैं। गौरतलब है कि सोमवार को ही बिहार के डेप्युटी सीएम सुशील कुमार मोदी ने लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव पर लगे मिट्टी घोटाले की जांच कराने का ऐलान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here