नीतीश ने काले दाग धोने के लिए ही नए डिटर्जेंट का प्रयोग शुरू किया: लालू

0
326

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एक बार फिर हमला बोलते हुए आज कहा कि नीतीश कुमार ने काले दाग धोने के लिए ही आजमाए हुए डिटर्जेंट का प्रयोग करना शुरू किया है। यादव ने एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉफ्र्स (एडीआर) की रिपोर्ट में प्रदेश की नई सरकार में 75 प्रतिशत से अधिक मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमें दर्ज होने का हवाला देते हुए माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्वीटर पर अपने $खास अंदाज में लिखा, काले दाग धोने के लिए ही तो आजमाए हुए डिटर्जेंट का प्रयोग करना शुरू किया है। Þ इस ट््वीट के माध्यम से यादव ने इशारों ही इशारों में नीतीश कुमार के नये सहयोगी भारतीय जनता पार्टी पर भी हमला बोला है। एक अन्य ट््वीट में राजद सुप्रीमों ने अंतरात्मा की आवाज पर अपने पद से इस्तीफा देने के नीतीश कुमार के निर्णय पर कटाक्ष करते हुए कहा, Þअरे भैया, क्यों अंतरात्मा को चैलेंज कर रहे हों? अंतरात्मा को सभी लोग कुर्सी आत्मा समझ लिए हो का। वहीं यादव के ट्वीट पर राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने रिट्वीट करते हुए लिखा, इन्हें दाग़ अच्छे लगते है और दागियों से पुराना गहरा रिश्ता है। बेदाग़ छवि बगल में बैठे ये कैसे पचता। गैर सरकारी संस्था एडीआर ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि बीजेपी के साथ मिलकर नीतीश कुमार की अगुवाई में बनी बिहार की नई सरकार के 75 फीसदी से ज्यादा मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य की मौजूदा जनता दल यूनाइटेड, भारतीय जनता पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी की सांझा सरकार के 29 में से 22 मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं जबकि पिछली महागठबंधन सरकार में कुल 28 मंत्रियों में से 19 मंत्री दागी थे। बिहार इलेक्शन वॉच और एडीआर की ओर से मुख्यमंत्री सहित 29 मंत्रियों के चुनावी हलफनामे के विश्लेषण के बाद यह रिपोर्ट तैयार की गई। रिपोर्ट के मुताबिक, मौजूदा सरकार के जिन 22 मंत्रियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, उनमें 9 के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here