पाक में पढ़ाया जा रहै है- ठग हैं हिंदू, मुस्लिमों को मारा और बंटवारा कराया

0
289

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुए 70 साल हो गए लेकिन अब भी उस समय घुला जहर बचा है।पाकिस्तान में आज भी हिन्दुओं और भारतीयों के प्रति उनका नजरिया दशकों पुराना और वैमनस्यतापूर्ण है। वहां स्कूली बच्चों की स्कूली किताबों में गलत इतिहास को पढ़ाया जा रहा है।

पाकिस्‍तान में 10वीं की इतिहास की किताब में लिखा है कि हिंदू ही 1947 बंटवारे के लिए जिम्‍मेदार थे। किताबों में यह भी लिखा है कि पड़ोसी मुल्क हिन्दुस्तान में रहने वाले अधिकांश हिन्दू ठग होते हैं। हिन्दुओं को मुस्लिमों के सामूहिक नरसंहार का दोषी ठहराया जा रहा है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्‍तान के बलूचिस्‍तान प्रांत में कक्षा पांच की सरकारी इतिहास की किताब में हिंदुओं को ‘ठग’ बताया गया है, जिन्‍होंने ‘मुस्लिमों की हत्‍या की’, उनकी संपत्ति लूटी और उन्‍हें भारत से बाहर निकलने को मजबूर कर दिया। उन्‍होंने हम पर नजर डाली इसलिए हमें पाकिस्‍तान बनाना पड़ा।

पंजाब प्रांत के 17 वर्षीय अफजल का कहना है कि उन्होंने (हिंदुओं ने) हमें नीचे देखा, यही वजह है कि हमने पाकिस्तान बनाया। पाकिस्तान के एक हाई स्कूल में पढ़ने वाले नून अफजल को किताबों से पता चला कि 70 साल पहले जब देश का बंटवारा हुआ था तब ‘धोखेबाज’ हिंदुओं ने रक्तपात किया था और मुसलमानों पर अत्याचार किए थे। इसके ठीक उलट भारतीय बच्‍चे इतिहास में ये पढ़ते हैं कि किस तरह महात्‍मा गांधी के प्रयासों से हमें आजादी मिली।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए नईदुनिया के

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here