उत्तर कोरिया के गुआम पर हमले की धमकी के बाद जापान ने की कड़ा जवाब देने की तैयारी

0
245

टोक्यो: उत्तर कोरिया द्वारा प्रशान्त महासागर के पश्चिमी भाग में स्थित गुआम द्वीप पर बैलेस्टिक मिसाइलें दागने की धमकी के बाद जापान अपनी सीमा पर पैट्रियट मिसाइल रक्षा प्रणाली तैनात कर रहा है. यह क्षेत्र प्रशासनिक रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका के अधीन है. अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच वाकयुद्ध बढ़ने से क्षेत्रीय तनाव बढ़ गया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया को चेतावनी दी है कि अगर उसने अमेरिका के खिलाफ कोई भी प्रतिकूल कार्रवाई की तो उसे सच में पछताना पड़ेगा.

सरकारी प्रसारणकर्ता एनएचके ने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने पश्चिमी जापान में शिमाने, हिरोशिमा और कोची में पैट्रियट एडवांस्ड कैपैबिलिटी-3 (पीएसी-3) प्रणाली तैनात करनी शुरू कर दी जिस पर उत्तर कोरिया ने चेतावनी दी है कि यह उसकी मिसाइलों के रास्ते में आ सकती है. एनएचके ने कहा कि पड़ोसी एहिमे में भी मिसाइल रोधी प्रणाली तैनात की जानी है.

टेलीविजन फुटेज में सुबह होने से पहले कोची में जापानी अड्डे पर जमीन से हवा में मार करने वाली प्रणाली के लिए लॉन्चर और अन्य उपकरण लाते हुए सेना के वाहन दिख रहे हैं. इन खबरों की अभी तुरंत कोई पुष्टि नहीं हुई है. हालांकि जापान ने पहले कहा था कि अगर उत्तर कोरिया की मिसाइलों या रॉकेटों का उसके क्षेत्र पर हमला करने का खतरा होगा तो वह उन्हें मार गिराएगा.

क्योदो समाचार समिति ने रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा कि सरकार को शनिवार सुबह तक पश्चिमी जापान में प्रणाली की तैनाती का काम पूरा करने की उम्मीद है. जापान के मुख्य सरकारी प्रवक्ता योशिहिदे सुगा ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि जापान, उत्तर कोरिया के उकसावे को कभी बर्दाश्त नहीं कर सकता और देश की सेना आवश्यक कदम उठाएगी.

वर्ष 2009 में उत्तर कोरिया का रॉकेट बिना किसी घटना के जापान के क्षेत्र से गुजरा था. हालांकि उस समय उत्तर कोरिया ने कहा था कि वह दूरसंचार उपग्रहों का प्रक्षेपण कर रहा था लेकिन अमेरिका, दक्षिण कोरिया और जापान का मानना है कि उत्तर कोरिया अंतमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण कर रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here