कच्चे व रिफाइंड पाम तेल के आयात शुल्क में वृद्धि, घरेलू उद्योग को समर्थन देने के लिये उठाया कदम

0
500

नई दिल्लीः सरकार ने सस्ते आयात को रोकने और घरेलू किसानों और रीफाइनर्स को लोकल प्राइस के लिए सपोर्ट देने के मकसद से क्रूड पाम ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा दिया है। सरकार ने क्रूड पाम ऑयल की इंपोर्ट ड्यूटी को 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया है और राइन्ड पर 15 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दिया है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम (सीबीईसी) की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, दूसरे कच्चे खाद्य तेलों जैसे सोया और सनफ्लावर पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 12.5 फीसदी से बढ़ाकर 17.5 फीसदी कर दिया गया है।

क्रूड और रीफाइन्ड पाम ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने से मलेशिया और इंडोनेशिया से आने वाले सस्ते इंपोर्ट को कम करने में मदद मिलेगी, साथ ही किसानों को फायदा पहुंचेगा। बंपर प्रोडक्शन की वजह से किसानों को तिलहन की कीमतें मिनिमम सपोर्ट प्राइस से कम हो गई हैं। जिसकी वजह से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here