BIHAR सृजन घोटाला : भागलपुर के ‘सृजन’ घोटाले की अब होगी सीबीआइ जांच

0
322

पटना : ‘सृजन’ घोटाले की जांच अब सीबीआइ से करायी जायेगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी अनुशंसा की है. गुरुवार की शाम मुख्यमंत्री ने भागलपुर में सरकारी बैंक खातों से राशि की अवैध निकासी के पूरे प्रकरण और सभी पहलुओं की मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, डीजीपी पीके ठाकुर, गृह विभाग के प्रधान सचिव आमिर सुबहानी और आर्थिक अपराध इकाई के आइजी जेएस गंगवार के साथ समीक्षा की. समीक्षा में यह सामने आया कि इस पूरे मामले में राष्ट्रीयकृत बैंकों के साथ-साथ सरकारी पदाधिकारियों और कर्मियों की भूमिका सामने आयी है.

मुख्यमंत्री ने इस सिलसिले में दर्ज मामलों समेत पूरे प्रकरण की जांच के लिए इसे सीबीआइ को सौंपने का निर्देश दिया. इससे पहले राजद की आेर से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीबीआइ जांच की मांग की गयी थी.मालूम हो कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पृथ्वी दिवस पर आयोजित समारोह में इस गड़बड़ी को लेकर खुलासा किया था. इसके बाद उनके निर्देश पर आर्थिक अपराध इकाई की विशेष टीम को जांच के लिए हेलीकॉप्टर से भागलपुर भेजा गया. एसआइटी का भी गठन किया गया. आधा दर्जन प्राथमिकी दर्ज की गयी और 10 अधिक लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. साथ ही अब तक करीब 1000 करोड़ के राशि के गबन का मामला उजागर हुआ है.

अब तक जिनसे हुई पूछताछ :- सृजन के पदाधिकारी व कर्मचारी, इंडियन बैंक व बैंक ऑफ बड़ौदा व एचडीएफसी बैंक के पदाधिकारी, समाहरणालय के कर्मचारी, सदर अस्पताल के पदाधिकारी व कर्मचारी, कल्याण विभाग के पदाधिकारी व कर्मचारी,

-भू-अर्जन विभाग, कल्याण विभाग, नगर विकास, स्वास्थ्य विभाग की राशि का हुआ है घोटाला

-इंडियन बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा से हुई है गड़बड़ी
-09 केस दर्ज
-लगभग 50 लोगों से पूछताछ

-इन डीएम के कार्यकाल में हुई अवैध निकासी :- वंदना प्रेयसी, केपी रमैया, संतोष कुमार मल्ल, नर्मदेश्वर लाल, विपिन कुमार, वीरेंद्र यादव, आदेश तितरमारे

अब तक 10 को भेजा गया जेल

प्रेम कुमार (डीएम के स्टेनो), बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व ब्रांच मैनेजर अरुण कुमार सिंह, अजय पांडेय (इंडियन बैंक के कर्मी), बंशीधर (फर्जी तरीके से बैंक स्टेटमेंट व पासबुक तैयार करनेवाला), राकेश यादव (नाजिर, जिला पर्षद), राकेश झा (नाजिर, भू-अर्जन), सरिता झा (सृजन की प्रबंधक), एससी झा (सृजन का ऑडिटर), अरुण कुमार (जिला कल्याण पदाधिकारी), महेश मंडल (नाजिर, कल्याण विभाग)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here