बिहार विधानमंडल का मॉनसून सत्र : नीतीश-मोदी के पद पर रहते कैसे हो सकती है सृजन घोटाले की निष्पक्ष जांच : राबड़ी देवी

0
208

पटना : बिहार विधानमंडल का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है. 25 अगस्त तक पांच दिनों के इस सत्र के हंगामेदार होने के आसार हैं. जहां विपक्ष बिहार में आयी बाढ़, सृजन घोटाले समेत महागठबंधन तोड़ कर नयी सरकार के गठन को लेकर जहां सत्ता पक्ष को घेरेगा, वहीं सत्ता पक्ष ने भी विपक्षों के सवालों का तार्किक जवाब देने के लिए कमर कस ली है. पिछले महीने विश्वासमत के बाद राजद और कांग्रेस पहली बार विपक्ष में बैठेंगे. वहीं, विपक्ष की मजबूती के बीच एनडीए सरकार को विधेयकों को पास कराने की चुनौती होगी. बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने पिछले दिनों ही सभी राजनीतिक दलों से शांतिपूर्ण सदन चलाने की अपील की है.

21 अगस्त को स्पीकर का संबोधन, राज्यपाल की ओर से मंजूर किये गये अध्यादेशों को प्रभारी मंत्री सदन के पटल पर रखा जायेगा. वहीं, वित्तीय वर्ष 2017-18 के प्रथम अनुपूरक बजट की व्यय विवरणी सदन में रखी जायेगी और शोक प्रकाश होगा. 22-23 अगस्त को प्रश्नोत्तर काल, शून्यकाल, ध्यानाकर्षण, राजकीय विधेयक व अन्य राजकीय कार्य किये जायेंगे, जबकि 24 अगस्त को वित्तीय वर्ष 2017-18 के प्रथम अनुपूरक बजट की व्यय विवरणी पर वाद-विवाद, मतदान व विनियोग विधेयक पेश होंगे. 25 अगस्त को गैर सरकारी संकल्प लिये जायेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here