सृजन घोटाला : अब बांका में भी प्राथमिकी दर्ज, 83 करोड़ का हुआ घोटाला

0
828

भू-अर्जुन पदाधिकारी आदित्य नारायण झा ने बांका थाने में वर्ष 2009-13 के तत्कालीन भू-अर्जन पदाधिकारी जयश्री ठाकुर, प्रबंधक बैंक आॅफ बड़ौदा एवं इडियन बैंक भागलपुर व सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड के सभी पदाधिकारी व सबंधित कर्मी के ऊपर 83.10 करोड़ की सरकारी राशि के गबन की प्राथमिकी दर्ज करायी है.
जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गयी है : एसपी
एसपी चंदन कुशवाहा ने प्राथमिकी की पुष्टि करते हुए बताया कि मामले की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित कर दी गयी है. गठित 15 सदस्यीय टीम का नेतृत्व एसडीपीओ बांका शशिकांत कुमार कर रहे हैं. टीम को तुरंत छापेमारी व गिरफ्तारी की कार्रवाई का निर्देश दिया गया है. एसडीओ के नेतृत्व मेंं टीम के द्वारा भू-अर्जन कार्यालय की जांच शुरू कर दी गयी है. उधर, डीएम कुंदन कुमार ने जांच टीम के नेतृत्व का जिम्मा डीडीसी प्रदीप कुमार को सौंपा है. जिला प्रशासन की जांच टीम में वर्तमान भू-अर्जन पदाधिकारी, वरीय समाहर्ता नीरज कुमार, ट्रेजरी आॅफिसर नवल किशोर यादव, डीआरडीए के सीनियर अकाउंटेंट राकेश कुमार शामिल हैं.
क्या है मामला
बताया जा रहा है कि तत्कालीन भू-अर्जन पदाधिकारी ने 2009-13 में भागलपुर के बैंक आॅफ बड़ौदा एवं इडियन बैंक में बांका भू-अर्जन विभाग का दो खाता खोल रखा था, जहां से उस वक्त 77 करोड़ की राशि अस्थाई गबन और 6 करोड़ 10 लाख की स्थाई गबन की गयी है. इस मामले को लेकर बांका थाने में कांड संख्या 505/17 के तहत धारा 420 / 409 / 467 / 468 / 471,120 के अधीन चारों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है. बांका थानाध्यक्ष सह इंन्सपेक्टर राकेश कुमार को कांड का अनुसंधानकर्ता बनाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.