सृजन घोटाला : नीतीश कुमार बोले- जांच की मॉनिटरिंग कोर्ट करे तो सरकार कोई आपत्ति नहीं

0
120

पटना: सृजन घोटाले पर बिहार में राजनीति गरम है. सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि अगर कोर्ट जांच की मॉनिटरिंग करे तो राज्य सरकार को कोई आपत्ति नहीं है. नीतीश ने इस मामले में पिछले सप्ताह सीबीआई जांच का आदेश दिया था. विपक्षी राजद का कहना हैं कि सीबीआई जांच से वे संतुष्ट नहीं हैं और इस मामले की या तो पटना हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट की कोई बेंच मॉनिटरिंग करे. लेकिन नीतीश कुमार का कहना था कि राज्य सरकार यह आदेश नहीं दे सकती और जिन्होंने भी इस मामले में याचिका दायर की है वे यह आग्रह कर सकते हैं.

यह पूछे जाने पर कि भागलपुर के संजीत कुमार ने 2013 में सृजन महिला सहयोग समिति में घोटाले के संबंध में लिखा था तब नीतीश कुमार ने कहा कि कोई पत्र उनके पास खासकर किसी विभाग से संबंधित शिकायत सीधे उस विभाग के पास प्रतिक्रिया के लिए चली जाती है.

राजद अध्यक्ष लालू यादव ने इस पत्र के आधार पर आरोप लगाया है कि यह घोटाला नीतीश कुमार की जानकारी में था, इसलिए नीतीश और सुशील मोदी दोनों को इस्तीफा देना चाहिए. संजीत कुमार के इस पत्र के आधार पर रिज़र्व बैंक ने बिहार सरकार ने सहकारी समितियों को जांच करने के लिखा, लेकिन भागलपुर के जिला अधिकारी के आदेश पर यह जांच कभी पूरी नहीं हुई.

इस बीच सोमवार को बिहार विधानसभा का सत्र शुरू हुआ और विधानसभा में इस पर जमकर हंगामा हुआ. मंगलवार को भी राजद ने घोषणा की है कि वे इस मामले को जोर-शोर से उठाएंगे. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि रविवार को महेश मंडल नाम के जिस नज़ीर की मौत हुई वह हत्या है. जिला प्रशासन का कहना है कि महेश किडनी और कैंसर की बीमारी से पीड़ित था और उसकी मौत इसी वजह से हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here