निलेकणि की वापसी के बाद कंपनी में बने रहने का कोई औचित्य नहीं: सिक्का

0
162

नंदन निलेकणी के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन के रूप में इंफोसिस लौटने के एक दिन बाद, पूर्व सीईओ विशाल सिक्का ने कहा कि उन्होंने तत्काल प्रभाव से कंपनी से बाहर जाने की पेशकश की है क्योंकि उन्हें कंपनी में बने रहने का कोई कारण नहीं दिखाई दे रहा है। गौरतलब है कि नंदन निलेकणी ने बीते शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस को भी संबोधित किया, जिसमें उन्होंने बताया कि कंपनी सीईओ का चुनाव जल्द करेगी।

बीते हफ्ते बतौर सीईओ सिक्का के इस्तीफे के बाद इंफोसिस संस्थापकों और देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इंफोसिस के मैनेजमेंट के बीच तनाव बढ़ गया था। उन्होंने तब वाइस चेयरमैन का नाम भी लिया था। सिक्का के इस्तीफे के बाद चेयरमैन आर शेषशाई ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। सिक्का के अलावा भी दो अन्य निदेशकों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

सिक्का ने एक साक्षात्कार में कहा, “नंदन निलेकणि की वापसी के बाद मेरा कंपनी में बने रहना ठीक नहीं है और मैं तत्काल प्रभाव से कंपनी छोड़ने की पेशकश करता हूं।” सिक्का ने साफ किया कि उन्होंने मूर्ति के खिलाफ कोई विशिष्ट टिप्पणी नहीं की थी। उनकी टिप्पणी उन खबरों की ओर संदर्भित थी जो तरह तरह से लोगों का ध्यान खींच रही थीं। उन्होंने आगे कहा कि इसे कौन फैला रहा था उन्हें नहीं मालूम और वो अब यह जानने को उत्सुक हैं कि इन सब के पीछे आखिर कौन था। इतना ही नहीं उन्होंने उन रिपोर्टों को भी खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि वो सीटीओ के रूप में हेवलेट पैकार्ड एंटरप्राइज (एचपीई) ज्वाइन कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here