PM मोदी को लेकर गलत रिपोर्टिग पर HC की मीडिया को फटकार

0
497

चंडीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हाईकोर्ट की टिप्पणी को लेकर मचे बवाल के बाद पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने मीडिया पर सवाल खड़े किए। मीडिया को फटकार लगाते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि हमने 26 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा के नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री है, ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की फिर भी कुछ मीडिया संस्थानों ने इसे प्रकाशित कर दिया। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की पूर्ण पीठ ने कहा कि हमने पहले भी मीडिया से उम्मीद जताई थी कि वे जिम्मेदारी से अपना काम करेंगे परंतु कुछ ने अपनी जिम्मेदारी को सही प्रकार से नहीं निभाया। बिना संदर्भ समझे इस प्रकार का समाचार प्रकाशित करना निंदनीय है।

हाईकोर्ट की खबरों को गंभीरता से कवर करने की सलाह
कोर्ट ने कहा कि मोदी का नाम कोर्ट में नहीं लिया गया बावजूद इसके समाचार पत्रों ने उसे प्रमुखता से प्रकाशित किया जो दुर्भाग्यपूर्ण है। कोर्ट के सामने सत्यपाल जैन ने कहा कि जो बात हुई नहीं और जिस संदर्भ में नहीं हुई उसे प्रकाशित नहीं किया जाना चाहिए। इस पर सीनियर एडवोकेट अनुपम गुप्ता ने मीडिया संस्थानों का बचाव किया। गुप्ता की दलीलों के बाद कोर्ट ने इस मुद्दे को यहीं छोड़ दिया और चेतावनी भरे लहजे में आशा जताई कि भविष्य में हाईकोर्ट की खबरों को गंभीरता से कवर किया जाएगा।

पुलिस को सख्त होना बेहद जरूरी
तोडफ़ोड़ व आगजनी पर पुलिस व सुरक्षा बलों की कार्रवाई पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने संतुष्टि जताते हुए कहा कि युद्ध जैसी स्थिति बन गई थी। ऐसी स्थिति को युद्ध की तरह ही निपटा जाना था, पुलिस और सुरक्षा बलों ने जिस सख्ती के साथ दंगाइयों के खिलाफ कार्रवाई की उससे ऐसे लोगों में एक संदेश गया है की दोबारा अगर किसी ने इस तरह की हरकत की तो उनके खिलाफ भी ऐसी ही सख्त कार्रवाई की जाएगी। हाई कोर्ट ने कहा कि पुलिस कभी कमजोर और पीड़ित नजर नहीं आनी चाहिए। पुलिस को सख्त होना बेहद जरूरी है। हाईकोर्ट ने यह टिप्पणी मंगलवार को कुछ वकीलों की ओर से डेरा समर्थकों के खिलाफ की गई कार्रवाई पर सवाल उठाने पर की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.